Tuesday , December 12 2017

सरकारी अस्पतालों में अब मेडिकल जांच प्राइवेट हाथों में

रियासती हुकूमत ने तमाम जिला (सदर) अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों में मेडिकल जांच का काम प्राइवेट हाथों में देने का फैसला लिया है। पीर को कैबिनेट ने इसकी मंजूरी दे दी। इसके तहत एडवांस रेडियोलॉजिकल इमेजिंग व पैथोलॉजी टेस्ट का काम प्रा

रियासती हुकूमत ने तमाम जिला (सदर) अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों में मेडिकल जांच का काम प्राइवेट हाथों में देने का फैसला लिया है। पीर को कैबिनेट ने इसकी मंजूरी दे दी। इसके तहत एडवांस रेडियोलॉजिकल इमेजिंग व पैथोलॉजी टेस्ट का काम प्राइवेट पार्टनर करेंगे। इससे अब सरकारी अस्पतालों में किसी तरह की जांच मुफ्त में नहीं हो सकेगी।

साबिक़ सेहत वज़ीर हेमलाल मुमरू के मुद्दत में ही रियासती हुकूमत ने वर्ल्ड बैंक से ताल्लुक इंटरनेशनल फिनांस कॉरपोरेशन (आइएफसी) के साथ मूआहिदा किया था। इसके तहत आइएफसी को सरकार के लिए प्राइवेट ऑपरेटर की तलाश करनी है। ऑपरेटर को रेडियोलॉजी व पैथोलॉजी से मुतल्लिक़ जांच की सर्विस देनी है। इस निज़ाम का मुखालिफत भी हो रहा है।

कई अदारों व दानिशमंदों का कहना है कि प्राइवेट हिस्सेदारी से गरीबों के लिए बने जिला अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों में सेहत सहूलत महंगी हो जायेंगी। यह रियासत की अवामी मुफाद पॉलिसी के खिलाफ है। हालांकि सरकार मानती है कि इससे सेहत सर्विस बेहतर होंगी।

TOPPOPULARRECENT