सरकारी मुलाज़मत के लिए डैरेक्ट बहाली का रास्ता साफ, उम्र मुद्दत फिर बढ़ाई

सरकारी मुलाज़मत के लिए डैरेक्ट बहाली का रास्ता साफ, उम्र मुद्दत फिर बढ़ाई

 

पटना : रियासत में सरकारी मुलाज़मत के लिए डैरेक्ट बहाली का रास्ता साफ हो गया है। कैबिनेट ने मंगल को सरकारी मुलाज़मत के लिए ज्यादा से ज्यादा उम्र की मुद्दत फिर दो साल बढ़ा दी है। यह छूट 31 दिसंबर 2015 को ख़त्म हो गई थी। इस बार इसे अगले हुक्म तक के लिए बढ़ाया गया है।

सरकार ने साल 2006 में जेनरलप, पसमांदा तबका, इन्तेहाई पसमांदा तबका, खातून, एसी और एसटी उम्मीदवारों के लिए बहाली की उम्र की मुद्दत में दो साल की इज़ाफा कर दी थी। इसकी वजह थी कि साल 2005 में रियासत के मुलाजिम की रीटायर्ड की उम्र की मुद्दत को 58 से बढ़ा कर 60 साल कर दिया गया था। फिलहाल जेनरल के लिए 37 साल , पसमांदा तबके व इन्तेहाई पसमांदा तबके के लिए 40 साल , खातून के लिए 40 साल और एसी-एसटी उम्मीदवारों के लिए बहाली की ज्यादा से ज्यादा उम्र की मुद्दत 42 साल है। साल  2006 में इस निज़ाम को 31 दिसंबर 2010 तक के लिए लागू किया गया। फिर यह मुद्दत 31 दिसंबर 2015 तक बढ़ाई गई।

 

Top Stories