Monday , December 18 2017

सरकारी मुलाज़िम निकला करोड़पति, घर में छापेमारी के दौरान लाखों रुपए बरामद

निगरानी महकमा की टीम ने पीर को सदर (रांची) अंचल के मुलाज़िम आनंद खलखो को पांच हजार रुपये घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया। वह जमीन ट्रांसफर की जांच रिपोर्ट के लिए मिसिर गोंदा के रहने वाले माधो उरांव से घूस ले रहा था। गिरफ्तारी के बाद

निगरानी महकमा की टीम ने पीर को सदर (रांची) अंचल के मुलाज़िम आनंद खलखो को पांच हजार रुपये घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया। वह जमीन ट्रांसफर की जांच रिपोर्ट के लिए मिसिर गोंदा के रहने वाले माधो उरांव से घूस ले रहा था। गिरफ्तारी के बाद निगरानी महकमा के अफसरों ने मुलाज़िम के घर की तलाशी ली। घर कांके रोड में रॉक गार्डेन के सामने है। उसके घर से 9.10 लाख रुपये नकद मिले। 40 लाख रुपये से ज़्यादा की ज़ायदाद का पता चला।

कागजात जब्त

निगरानी के एसपी विपुल शुक्ला ने बताया कि तलाशी में 18.25 लाख रुपये की जमीन खरीदने के दस्तवेज भी मिले हैं। रियासती मुलाज़िम ने जमीन की खरीद अपनी बीवी के नाम से की है। इसके अलावा कई इंसुरेंस पॉलिसी के कागजात मिले हैं, जिसके लिए 13,10,713 रुपये प्रीमियम चुकाये गये हैं। मिस्टर खलखो ने घर की तामीर में भी बड़ी रकम खर्च की है। तजवीज के बाद यह पता चलेगा कि घर बनाने में कितने रुपये खर्च किये गये हैं।

जमीन ट्रांसफर की जांच रिपोर्ट के लिए लिखवा ली जमीन

निगरानी के एसपी ने बताया कि मिसिर गोंदा के रहने वाले माधो उरांव ने अपनी खानदानी जमीन का ट्रांसफर अपने नाम कराने के लिए सदर अंचल अफसर के दफ्तर में दरख्वास्त दिया था। जांच का जिम्मा आमदनी मुलाज़िम आनंद खलखो को दिया गया। मिस्टर खलखो ने जांच रिपोर्ट देने में ताखीर किया। माधो उरांव की तरफ से राब्ता करने पर मुलाज़िम ने जांच रिपोर्ट देने के बदले उससे अपनी बीवी के नाम तीन कट्ठा जमीन लिखवा ली। जमीन की रजिस्ट्री जनवरी 2014 में करायी। इसके बाद भी जांच रिपोर्ट नहीं दी। जांच रिपोर्ट देने के बदले माधो उरांव से 20 हजार रुपये रिश्वत की मांग की। माधो पांच हजार रुपये देने पर राजी हुआ। माधो उरांव ने इसकी जानकारी निगरानी महकमा को दी। निगरानी ने एक टीम की तशकील किया गया। मंसूबा के मुताबिक माधो उरांव ने आनंद खलखो को जैसे ही पांच हजार रुपये रिश्वत दी, टीम ने आनंद खलखो को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

TOPPOPULARRECENT