Monday , April 23 2018

सरकारी स्कूलों में असातिज़ा की कमी

येल्लारेड्डी 13 जून: एक तरफ़ ख़ानगी स्कूलों की तरह सरकारी स्कूलों में भी तालीम का मीआर उम्दा होने का यकिन् दिलाते हुए ओहदेदार और असातिज़ा मुख़्तलिफ़ प्रोग्रामों के ज़रीये अवाम को बेदार करते हुए अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में दाख़ि

येल्लारेड्डी 13 जून: एक तरफ़ ख़ानगी स्कूलों की तरह सरकारी स्कूलों में भी तालीम का मीआर उम्दा होने का यकिन् दिलाते हुए ओहदेदार और असातिज़ा मुख़्तलिफ़ प्रोग्रामों के ज़रीये अवाम को बेदार करते हुए अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में दाख़िला दिलाने का मश्वराह दे रहे हैं तो दूसरी तरफ़ सरकारी स्कूलों में असातिज़ा की कमी ने ओलयाए तलबा को तशवीश में डाल दिया है।

उन्हें ये भरोसा नहीं होरहा हैके सरकारी स्कूलों में मयारी तालीम यक़ीनी होगी । इन दिनों असातिज़ा के तबादलों के सबब अक्सर असातिज़ा दूसरे इलाक़ों को चले गए जिस पर मंडल नागी रेड्डीपेट के ज़्यादा तर स्कूलों में एक ही मदर्रिस बाक़ी रह गए हैं।

मंडल के 12 सरकारी स्कूलस सिर्फ़ एक टीचर से आग़ाज़ होने को है। जिस पर असातिज़ा बच्चों को सरकारी स्कूलों में दाख़िला दिलाने की मुहिम के दौरान ओलयाए तलबा के पास जाने से ख़ौफ़ कर रहे हैं।

क्यूंकि जब स्कूल में एक मुदर्रिस है तो तालीम क्या होगी । जिस का जवाब किसी असातिज़ा के पास शायद ना होगा ।

TOPPOPULARRECENT