Monday , December 11 2017

सरकार कालाधन छिपाने में व्यस्त है : स्वराज अभियान

नई दिल्ली: स्वराज अभियान और स्वराज इंडिया ने मोदी सरकार के काला धन विरोधी को देश की जनता के साथ बहुत बुरा मजाक बताते हुए आज आरोप‌ लगाया कि सरकार कालाधन रखने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने के बजाय उसे छिपाने में लगी है

स्वराज अभियान के अध्यक्ष प्रशांत भूषण और स्वराज इंडिया के प्रमुख योगेंद्र यादव ने यहां आयोजित एक प्रैस कान्फ़्रैंस में आरोप‌ लगाया कि मोदी सरकार उन लोगों के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है जिन के ख़िलाफ़ काला ध‌न रखने का पुख़्ता सबूत है उल्टा वो उन को सम्मानित कर रहे हैं

उन्होंने कहा कि नोटों को रद्द करने का एक साल पूरा होने पर सरकार की तरफ‌ से आठ नवंबर को मनाया जाने वाला कालाधन विरोधी दिन सबसे बड़ा धोका है और जनता के साथ भद्दा मज़ाक़ किया है। दोनों ने अडानी पावर,ईसार ,मुकेश अंबानी और अनिल अंबानी की कंपनीयों और एस्टलिंग बाईकॉट का कच्चा चिट्ठा पेश करते हुए आरोप‌ लगाया कि उनके ख़िलाफ़ हज़ारों करोड़ों रुपये की अनियमितता के पुख़्ता सबूत हैं उस के बावजूद सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।उन्होंने आरोप‌ लगाया है कि केंद्रीय जांच ब्यूरो के अधिकारी राकेश अस्थाना का नाम इस डायरी में आया है जिसमें गुजरात की एक कंपनी से पैसे लेने वालों का ज़िक्र है। इस के बावजूद सरकार ने उन्हें सी बी आई का स्पैशल डायरेक्टर दिया।

TOPPOPULARRECENT