Monday , November 20 2017
Home / Khaas Khabar / सरकार की आलोचना पर गिरफ़्तारी, अलग अलग मामले में तीन गिरफ्तार

सरकार की आलोचना पर गिरफ़्तारी, अलग अलग मामले में तीन गिरफ्तार

नई दिल्ली: भाजपा शासित असम में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल में एक कांस्टेबल पंकज मिश्रा को गृह मंत्री राजनाथ सिंह की आलोचना करने पर उसे पुलिस बल निकाल दिया गया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया| उन्होंने एक वीडियो में राजनाथ सिंह पर आरोप लगाया है कि वो प्रधानमंत्री को सही दिशा में काम करने की सलाह नहीं देते हैं| “तृणमूल कांग्रेस द्वारा शासित राज्य बंगाल के पड़ोसी राज्य का मामला है जिसके बाद इस विवाद ने तूल पकड़ लिया|

एक अन्य मामले में उत्तर बंगाल के बालूरघाट के निवासी अनुपम तरफदार और देबजित रॉय को गिरफ्तार कर लिया गया है| जिन्होंने दुर्गा पूजा के दौरान शहर के यातायात पर फेसबुक के द्वारा आलोचना की थी| 27 सितंबर को, रॉय ने बंगाली में एक पोस्ट अपलोड किया था| द टेलीग्राफ में एक रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा था कि  “बाईकर्स’ जो भी आप करते हैं| अगर आप व्यापारी हैं तो आप को अपनी गाड़ी शाम 4 बजे से पहले पहले ही गैराज में पार्क करनी पड़ेगी वरना आप घर वापिस नहीं जा सकते’|

देबजित रॉय ने एक अन्य पोस्ट में अपने 18 महीने के बच्चे और गर्भवती पत्नी के साथ 5 किमी चलने के का भी ज़िक्र किया उन्होंने कहा कि या उसके लिए दुखद अनुभव रहा| उन्होंने कहा कि ऐसा उन्हें करना पड़ा क्योंकि उन्हें किराए पर लेने के लिए टोटो (बैटरी संचालित रिक्शा) या साइकिल रिक्शा नहीं मिला। सोशल मीडिया पर यह पोस्ट वायरल हो गयी| जिसपर कई लोगों ने टिप्पड़ी की| द टेलीग्राफ रिपोर्ट के अनुसार उसके बाद ट्राई चालकों ने उसके ख़िलाफ़ आन्दोलन किया गया उनपे आरोप लगाया किया कि रॉय ने लोगों को भड़काने की कोशिश की है, हिंसा को बढ़ावा दिया गया|

देबजित रॉय की पत्नी प्रियदर्शिनी ने संवाददाताओं से कहा कि उन्हें गुरुवार शाम पुलिस ने थाने में बुलाया घंटों पूछताछ के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया गया था| देबजित रॉय के खिलाफ पुलिस ने दो मामले दर्ज़ किये हैं|  उनमें से एक ड्राइवरों द्वारा शिकायत पर आधारित है। दूसरे मामले को पुलिस ने ख़ुद अपनी तरफ़ से दर्ज़ किया है| उन पर आरोप है कि उन्होंने सरकारी कर्मचारी को रोकना और जनता के साथ दुर्व्यवहार करना शामिल है|

इन अपराध में दोषी पाए जाने पर आरोपी को तीन महीने से लेकर दस साल तक की जेल हो सकती है| शुक्रवार को बालुगढ़ में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में उत्पादित, रॉय और तरफदार को दो दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है।हाल ही में एक अन्य मामले में जादवपुर विश्वविद्यालय के एक प्रोफेसर अम्बिकेश महापात्रा को गिरफ्तारी कर लिया गया है| उन्हें मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी का कार्टून बनाने के लिए गिरफ्तार किया गया|

 

TOPPOPULARRECENT