Thursday , January 18 2018

सरकार की नकामयाबी फिर हुई उजागर : मोदी

साबिक़ नायब वजीरे आला शरीक भाजपा के लीडर सुशील मोदी ने कहा है कि रोहतास के बड्डी गांव में हुई वाकिया से नीतीश हुकूमत की नकामयाबी एक बार फिर उजागर हुई है। उन्होंने मैयतों के अहले खाना को 10-10 लाख रुपये मुआवजा और मुजरिमों के खिलाफ सख्

साबिक़ नायब वजीरे आला शरीक भाजपा के लीडर सुशील मोदी ने कहा है कि रोहतास के बड्डी गांव में हुई वाकिया से नीतीश हुकूमत की नकामयाबी एक बार फिर उजागर हुई है। उन्होंने मैयतों के अहले खाना को 10-10 लाख रुपये मुआवजा और मुजरिमों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग हुकूमत से की है।

सुशील मोदी ने कहा कि यौमे आज़ादी के दिन रोहतास में हुई वाकिया अफसोशनाक है। ताज्जुब तो इस बात का है कि नीतीश हुकूमत के एक सीनियर वज़ीर जिला हेड क्वार्टर में मौजूद थे, लेकिन वाकिया की इत्तिला मिलने के बावजूद जाये हादसा पर जाने की बजाय वे पटना लौट आये। वज़ीर का यह रवैया अफसोशनाक है।

उन्होंने कहा है कि हुकूमत अगर चौकन्ना रहती और मुक़ामी इंतेजामिया मुहताब रहता,तो वाकिया टाली जा सकती थी। नवादा और बेतिया में हुकूमत की गैर फआलियत की वजह से हालात अभी तक आम नहीं हो पाये हैं। रोहतास के बड्डी गांव में गैर मजरूआ जमीन को लेकर पहले से ही तनाज़ा था। वाकिया के एक दिन पहले तनाज़ा बढ़ा था।

मुक़ामी पुलिस को इसकी जानकारी थी। बावजूद अमन बनाये रखने की पहल नहीं हुई। नतीजा यह हुआ कि फारचम फहराने को लेकर तनाज़ा हुआ और मारपीट भी हुई। वाकिया को लेकर बग्गी और आस-पास के गांवों में कसीदा सुरते हाल बनी हुई है। वाकिया किन हालत में हुई। इसकी जांच होनी चाहिए।

TOPPOPULARRECENT