Sunday , June 24 2018

सरकार ने कबूला, आईएम हुआ खतरनाक

इंडियन मुजाहिद्दीन (आईएम) ही मुल्क में दहशतगर्द सरगर्मिया चला रहा है, हुकूमत ने इस बात को कबूल कर लिया है। हुकूमत ने माना है कि पिछले दिनों मुल्क में जो बड़े धमाके हुए हैं, उनके पीछे आईएम का ही हाथ था। और इस तंज़ीम की मदद पाकिस्तान में

इंडियन मुजाहिद्दीन (आईएम) ही मुल्क में दहशतगर्द सरगर्मिया चला रहा है, हुकूमत ने इस बात को कबूल कर लिया है। हुकूमत ने माना है कि पिछले दिनों मुल्क में जो बड़े धमाके हुए हैं, उनके पीछे आईएम का ही हाथ था। और इस तंज़ीम की मदद पाकिस्तान में बैठे दहशगर्द सरगना कर रहे हैं।

वज़ीर ए दाखिला सुशील कुमार शिंदे ने कहा कि इस साल हैदराबाद, बोध गया और पटना में हुए धमाकों को आईएम ने ही अंजाम दिया था। उन्होंने साफ कहा कि इंडियन मुजाहिद्दीन को सरहद पार से मदद और तरगीब मिल रही है। शिंदे के मुताबिक, बेंगलुरु में हुए धमाके के पीछे कुछ बुनियाद परस्त नौजवान और एक दूसरी तंज़ीम का हाथ था।

शिंदे जुमेरात के रोज़ इंटेलिजेंस ब्यूरो की तरफ से मुनाकिद Police Directorate के तीन रोजा कांफ्रेंस से खिताब कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने दहशतगर्द यासीन भटकल और अब्दुल करीम टुंडा की गिरफ्तारी के लिए सेक्युरिटी एजेंसियों की तारीफ भी की। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हमें मुसलसल अलर्ट रहने की जरूरत है।

उन्होंने जांच एजेंसियों में बेहतर तालमेल पर भी जोर दिया। उन्होंने रियासतों से गुजारिश किया कि वे अपनी खुसूसी ब्रांचो को और मजबूत बनाएं और मरकज़ इसके लिए उन्हें पूरी मदद देगी। शिंदे ने कहा कि अहम इत्तेलात की खातिर मल्टी एजेंसी सेंटर (मैक) का दायरा और बढ़ाया जा रहा है। फिलहाल 45 जिलों में मैक काम कर रहा है।

हाल ही में मगरिबी उत्तर प्रदेश में हुए दंगों का जिक्र करते हुए शिंदे ने कहा कि दंगे की वजह बहुत छोटी थी। फौरी तौर पर मूशिर और इंतेज़ामी कार्रवाई से इसे टाला जा सकता था। उन्होंने कहा कि जिला सतह पर इंतेज़ामिया को इस तरह के निज़ाम को तरक्की याफ्ता बनाना होगाजिससे लोगों से मुसलसल राबिता कायम रखा जा सके और फिर्कावाराना मुद्दों की फौरन तफ्सीलात मिल सके।

शिंदे ने पुलिस अफसरों से नक्सलवाद के मुद्दे पर भी बेबाक बात की। उन्होंने कहा कि मरकज़ी हुकूमत नक्सलवाद को खत्म करने के लिए पुर अज़्म है। वह नक्सल मुतासिर रियासतों को हर तरह की मदद देगी। साथ ही इन इलाकों में तरक्की के प्रोग्राम भी चलाएगी। छत्तीसगढ़ विधानसभा इलेक्शन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सेक्युरिटी फोर्स ने वहां अच्छा काम किया है। साथ ही रियासत की जनता ने बड़ी तादाद में वोट देकर नक्सलियों को यह पैगाम दे दिया है कि वे मुल्क की जम्हूरी निज़ाम में यकीन रखते हैं।

इंटेलिजेंस ब्यूरो ( आईबी ) का मानना है कि आईएम पूरे मुल्क में अपने पैर फैला चुका है। उसे पाकिस्तान से मदद और हिदायत तो मिल ही रहे हैं , साथ ही वह दूसरे दहशतगर्द और मुल्क के मुखालिफ तंज़ीमो से राबिता कायम करने की कोशिश भी कर रहा है। आईबी के

डायरेक्टर आसिफ इब्राहिम ने कहा , आईएम ने लश्कर ए तैबा के साथ मिलकर अपनी ताकत इतनी बढ़ा ली है कि वह मुल्क में कहीं भी हमला कर सकता है। हालात इतना संजीदा है कि मुल्क के सामाजी ताने – बाने को बनाए रखना भी एक बड़ा चैलेंज बन गया है। इब्राहिम ने मुल्क में सोशल मीडिया के गलत इस्तेमाल पर फिक्र जताते हुए उस पर रोक लगाने का सुझाव भी दिया।

TOPPOPULARRECENT