Thursday , December 14 2017

सरकार बनी, तो बेटे ही हुकूमत में शामिल होंगे : लालू 

पटना : राजद सरबराह लालू प्रसाद ने कहा कि अज़ीम इत्तिहाद की हुकूमत बनी तो उनके बेटे हुकूमत में हिस्सा लेंगे. हुकूमत में कंट्रीब्यूट करेंगे। यह जम्हूरियत है। राजा-रानी का सिस्टम नहीं है। नये लड़के सियासत में जाकर उसको साफ करने का काम करेंगे। यह वह सिस्टम नहीं है कि हथुआ के राजा का बेटा राजा बन गया, जम्हूरियत में आवाम मुहर लगाती है। राजद सरबराह लालू प्रसाद जुमेरात को एक प्राइवेट चैनल के प्रोग्राम में शिरकत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा पार्टी नहीं मुखौटा है।

जब आरएसएस ने आंख तरेरा तो नरेंद्र मोदी समेत सभी वहां पहुंचकर त्वमेव माता-पिता त्वमेव कहने लगे। समाजी इक़्तेसादी व नसली बुनियाद पर मरदम शुमारी जारी करने की मांग दोहरायी। कहा कि अखबारों में छपा कि बदरंग गांव की बदरंग तस्वीर, वजीरे आजम बतावे कि वह कौन ज़ात का है। नीतीश कुमार से हाथ मिलाने पर सफाइ दी कि वह हमारे सीनियर ही नहीं रिलेटिव भी हैं। यह नहीं है कि मुस्तकबिल के रास्ते बंद हो गये हैं।

पार्टी व नीतीश कुमार को कहा हैं कि भडकाने वाली कोई बात नहीं करनी है। हम पहले साथ थे। नीतीश छोटा भाई है, एक फॅमिली के हैं, हम बिखर गये थे, कोई कहीं गया-कोई कहीं चला गया था। जब इंतिख़ाब में रघुनाथ झा का अकेले जमानत जब्त हुआ तो हम अलर्ट हो गये। रिजल्ट के दिन ही नीतीश को फोन किया। नीतीश को सीएम के तौर में साथ देने के सवाल पर कहा कि हम भैंस की तरह मुड़ी गाड़कर चलते हैं। पब्लिक कमिटमेंट इज पब्लिक कमिटमेंट होता है।

नीतीश वजीरे आला हो गये हैं, फर्मलिटी बाकी है। नीतीश कुमार ने भाजपा को बारीकी से वाच किया और बाहर कर दिया। किसी के शक नहीं होना चाहिए कि हम महज 100-100-40 सीट पर लड़ रहे हैं। तमाम लोग मिलकर 243 सीटों पर इंतिख़ाब लड़ रहै हैं। गांधींमैदान की रैली में तमाम का हाथ उठाकर मंजूरी ले ली है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार व मेरे दरमियान ही इत्तिहाद नहीं हुआ है पर आवाम भी सिमेंटेट है। चट्टानी इत्तिहाद के साथ खड़ी है।

लालू प्रसाद ने बताया कि जंगल राज की बात कौन कर रहा हैं। उन्होंने भूराबाल साफ करने की बात कब की। उन्होंने तो बस तवा की रोटी जो जल रही है, उसे पलटने का काम किया। इससे अमीर तबके को नागवार गुजरा। वजीरे आजम के पैकेज पर कहा कि जुमलेबाजी है। जो लोग जंगलराज की बात करते हैं। मोदी जी ध्यान रखिये कि अमेरिका ने क्या कहा था अपने शहरियों को, गुजरात में नहीं जाना है। और क्या कहा था उनके लीडर ने, राजधर्म भी कोई चीज होती है। दुनिया में जायेंगे तो क्या मुंह लेकर जायेंगे।

अपने ही लीडर आडवाणी जी की हालत टुअर की तरह बना दी है। उन्होंने कहा कि जंगलराज कहने का उनको फाइदा मिला। यादव समझ गये कि उनको जंगली कही जा रहा है, इसका फायदा मिला है। उन्होंने बताया कि भाजपा को अब कोई मौका नहीं दिया जायेगा।

TOPPOPULARRECENT