सरकार में है बीजेपी, हिम्मत है तो राम मंदिर पर अध्यादेश लाकर दिखाए- ओवैसी

सरकार में है बीजेपी, हिम्मत है तो राम मंदिर पर अध्यादेश लाकर दिखाए- ओवैसी
Click for full image

हैदराबाद से सांसद और ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने राम मंदिर के मुद्दे पर सरकार को अध्यादेश लाने की चुनौती दी है। ओवैसी सरकार राम मंदिर पर अध्यादेश लेकर क्यों नहीं आती, हर समय भाजपा, आरएसएस और विश्व हिंदू परिषद से कोई भी अध्यादेश के बारे में कहता रहता है, आप सत्ता में हैं और मैं आपको अध्यादेश लाने की चुनौती देता हूं।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि मालिकाना हक विवाद मामले में दायर दीवानी अपीलों को जनवरी, 2019 में एक उचित पीठ के सामने सूचीबद्ध किया जाएगा। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस के कौल और न्यायमूर्ति के एम जोसफ की पीठ ने यह बात कही।

भूमि विवाद मामले में दीवानी अपील इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ दायर की गई है। उचित पीठ मामले में अपील पर सुनवाई की तारीख तय करेगी। प्रधान न्यायाधीश ने कहा, ‘‘हम जनवरी में उचित पीठ के सामने अयोध्या विवाद मामले की सुनवाई की तारीख तय करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सोमवार को विश्व हिंदू परिषद ने कहा कि वह राम मंदिर के निर्माण के लिए अदालत के फैसले का अनंतकाल तक इंतजार नहीं कर सकती। साथ ही विश्व हिंदू परिषद ने सरकार से राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के लिये कानून लाने की अपील भी की

Top Stories