Friday , December 15 2017

सरसब्ज़ और शादाबी, पुराने शहर की अहम शाहराहें नजरअंदाज़

मजलिसे बल्दिया अज़ीम तर हैदराबाद की जानिब से दोनों शहरों हैदराबाद और सिकंदराबाद के मुख़्तलिफ़ इलाक़ों में सड़क के किनारे शजरकारी और पौदे लगाने का अमल जारी है लेकिन पुराने शहर की अहम सड़कों को भी बल्दिया की जानिब से इस प्रोग्राम में नजर अंदाज़ किया जा रहा है।

दोनों शहरों हैदराबाद और सिकंदराबाद के तमाम इलाक़ों से मजलिसे बल्दिया अज़ीम तर हैदराबाद को टैक्स की वसूली हो रही है और पुराने शहर से भी बल्दी ओहदेदार प्रॉपर्टी टैक्स वसूल करने की मुहिम चला रहे हैं लेकिन तरक़्क़ीयाती कामों में पुराने शहर के साथ रवा सुलूक से ऐसा महसूस होता है कि बल्दी ओहदेदार पुराने शहर की अहम सड़कों को भी नजर अंदाज़ कर रहे हैं।

चारमीनार, अफ़ज़ल गंज, मदीना बिल्डिंग, पत्थर घट्टी, शाह अली बंडा, फ़लक नुमा, इंजन बाउली, चंद्रायन गुट्टा, संतोष नगर, सईदा बाद, मलक पेट, आज़म पूरा, बहादुर पूरा के इलावा पुराने शहर की कई ऐसी सड़कें हैं जो इंतिहाई मसरूफ़ तरीन होने के इलावा अहम तसव्वुर की जाती हैं। इस मंसूबा में पुराने शहर की अहम सड़कों को भी शामिल किया जाना ज़रूरी है।

TOPPOPULARRECENT