Friday , December 15 2017

सरस्वती वंदना पर भडके मुसलमान

गुजरात में सरस्वती वंदना को लेकर तनाज़ा पैदा हो गया है। मौसूल इत्तेला के मुताबिक रियासत की दारुल हुकूमत अहमदाबाद के म्यूनिसिपल स्कूल बोर्ड ने फरमान जारी करके कहा है कि वसंत पंचमी के मौके पर स्कूल बोर्ड के तहत आने वाले सभी स्कूलों

गुजरात में सरस्वती वंदना को लेकर तनाज़ा पैदा हो गया है। मौसूल इत्तेला के मुताबिक रियासत की दारुल हुकूमत अहमदाबाद के म्यूनिसिपल स्कूल बोर्ड ने फरमान जारी करके कहा है कि वसंत पंचमी के मौके पर स्कूल बोर्ड के तहत आने वाले सभी स्कूलों में सरस्वती वंदना की जाए।

इस फरमान का मुस्लिम स्कूलों ने एहतिजाज किया है। सर्कुलर भेजने वाले सिटी म्यूनिसिपल स्कूल बोर्ड के इंतेज़ामिया ऑफिसर एलडी देसाई ने कहा कि सभी म्यूनिसिपैलिटी स्कूलों को इत्तेला किया गया है कि बसंत पंचमी मां सरस्वती का त्योहार है।

इन्हें बतौर तालीम और कला की देवी माना जाता है। इस दिन स्टूडेंट्स को समझाने की जरूरत है कि इल्म हासिल कर वे नई ऊंचाई को छू सकते हैं। सभी स्कूल यह यकीनी करें कि बसंत पंचमी के दिन सरस्वती वंदना और पूजा जरूर हो।

यह हुक्म सिटी की सिविक बॉडी की तरफ से कारफर्मां स्कूलों के लिए है। अहमदाबाद में 300 गुजराती मीडियम के स्कूल हैं। इन स्कूलों में तकरीबन 10 हजार मुस्लिम स्टूडेंट्स हैं। मुस्लिम स्टूडेंट्स को भी इस हुक्म का पालन करना होगा। कुछ उर्दू मीडियम स्कूलों के प्रिंसिपल इस सर्कुलर से परेशान हैं। शहर में 50 उर्दू मीडियम के स्कूल हैं।

TOPPOPULARRECENT