Wednesday , December 13 2017

सरूर नगर तालाब से दस्तयाब नाशों की शनाख़्त

सरूर नगर तालाब से दस्तयाब नाशों की शनाख़्त करली गई है जो एक ही ख़ानदान की बताई गई हैं। तीन ख़वातीन और तीन लड़कीयों का ताल्लुक़ एक ख़ानदान से बताया गया है, लेकिन ख़वातीन आपस में बहनें थीं और तीन लड़कीयां आपस में बहनें और एक ख़ातून क

सरूर नगर तालाब से दस्तयाब नाशों की शनाख़्त करली गई है जो एक ही ख़ानदान की बताई गई हैं। तीन ख़वातीन और तीन लड़कीयों का ताल्लुक़ एक ख़ानदान से बताया गया है, लेकिन ख़वातीन आपस में बहनें थीं और तीन लड़कीयां आपस में बहनें और एक ख़ातून की बेटियां थीं। पुलिस ने कहा कि शौहरों की से दिलबर्दाशता होकर उन बहनों ने ये इंतिहाई इक़दाम किया जिस में दो बहनों की शादी होचुकी थी और एक कुंवारी थी जो आसिफ़ नगर के इलाक़ा गुडी मलका पूर में रहते थे।

पुलिस के मुताबिक़ 26 साला रदनावती जो भूमाया नामी की बीवी थी। इस की तीन लड़कीयां 7 साला आर यक्का, 5 साला भवानी और 4 साला शिरा वित्ती थीं जबकि इर्दता वित्ती की दूसरी बहन सवार नाइती 24 साला बालराज नामी शख़्स की बीवी थी।

बालराज बे रोज़गार था, जबकि तीसरी बहन तीमा वित्ती जो कुंवारी थी अपने बहनों की इस हरकत में शामिल होगईं और ख़वातीन ने मिल कर इजतिमाई तौर पर ख़ुदकुशी करली जो अपने शौहरों की मुबय्यना हरा सानी से परेशान थी और 16 अप्रैल के दिन वो मकान से निकली थीं।

पुलिस के मुताबिक़ अरूना वित्ती के यहां से दस्तयाब एक टेलर के कार्ड से उन की शनाख़्त की गई जो गुडी मल्लिका पर आसिफ़ नगर के साकिनान थे। पुलिस ने कहा कि शौहरों की हरा सानी के सबब इजतिमाई ख़ुदकुशी का इंतिहाई इक़दाम किया गया। पुलिस मसरूफ़-ए-तहक़ीक़ात है।

TOPPOPULARRECENT