Wednesday , December 13 2017

सरोजनी देवी आई हॉस्पिटल के चंद डॉक्टर्स के ख़िलाफ़ केस दर्ज

हैदराबाद 09 जुलाई : सरोजनी देवी आई हॉस्पिटल सानिहा में जारी तहक़ीक़ात के सिलसिले में जिसमें सात मरीज़ एक आँख की बीनाई से महरूम हो गए,तेलंगाना ड्रग कंट्रोल एडमिनिस्ट्रेशन (DCA) ने इस हॉस्पिटल से रिंगरस लेक्टेट ( आर एल) सेलाइन के तीन बयाचस से 48 बॉटल्स हासिल किए ताकि इन्फेक्शन की वजूहात का पता चलाया जाये।

डीसीए के ओहदेदारों के मुताबिक़ डीसीए ने महाराष्ट्रा के डीसीए को लिखा भी है कि हसीब फार्मास्यूटिकलस की जांच की जाये जो मेनिफ़कचरर है और आर एल सल्यूशन को सरबराह किया है जिसकी वजह से अब कहा जा रहा है कि सरोजनी देवी आई हॉस्पिटल में 13 मरीज़ बैकटर याई इन्फेक्शन से मुतास्सिर हुए। डीसीए ने फंगल कनटमनीशन की शिकायतों के बाद नीलोफ़र हॉस्पिटल से भी RL सल्यूशन के नमूने हासिल किए थे।

इत्तेफ़ाक़ से वो सल्यूशन भी नागपुर की फार्मा कंपनी हसीब फार्मास्यूटिकलस ही ने सरबराह किया था। एक मुतास्सिरा मरीज़ के रिश्तेदार जितेंद्र रेड्डी की तरफ से हुमायूँनगर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई गई शिकायत के बाद सरोजनी देवी आई हॉस्पिटल के चंद डॉक्टर्स के ख़िलाफ़ फ़ौजदारी मुक़द्दमा दर्ज किया गया है।

TOPPOPULARRECENT