Monday , December 18 2017

सर्जरी के लिए चौटाला की उबूरी ज़मानत मंज़ूर

नई दिल्ली, 22 मई: , ( पी टी आई) दिल्ली हाईकोर्ट ने हरियाणा के साबिक़ वज़ीर-ए-आला ओम प्रकाश चौटाला की छः हफ़्तों के लिए उबूरी ज़मानत मंज़ूर की है ताकि वो हॉस्पिटल में पेसमेकर पैवंदकारी का ऑप्रेशन करवा सके। जस्टिस सिद्धार्थ मरदोल ने उबूरी

नई दिल्ली, 22 मई: , ( पी टी आई) दिल्ली हाईकोर्ट ने हरियाणा के साबिक़ वज़ीर-ए-आला ओम प्रकाश चौटाला की छः हफ़्तों के लिए उबूरी ज़मानत मंज़ूर की है ताकि वो हॉस्पिटल में पेसमेकर पैवंदकारी का ऑप्रेशन करवा सके। जस्टिस सिद्धार्थ मरदोल ने उबूरी ज़मानत मंज़ूर करते हुए कहा कि हक़ायक़ और हालात को मंज़र रखते हुए और साथ ही मुल्ज़िम की तिब्बी रिपोर्ट का जायज़ा लेने के बाद मुल्ज़िम की सज़ा को छः हफ़्तों के लिए मुल्तवी किया जा रहा है।

78 साला चौटाला जो इंडियन नैशनल लोक दल (INLD) के सरबराह हैं, दीगर 54 मुल्ज़िमीन के साथ 2000 में टीचर्स रिक़्वायरमेंट अस्क़ाम में मुलव्वस होने की सज़ा काट रहे हैं। इस मौक़ा पर अदालत ने चौटाला को पाँच लाख रुपये का शख़्सी मुचल्का दाख़िल करने की हिदायत की चूँकि इस शर्त पर उन की उबूरी रिहाई अमल में आएगी। यही नहीं अदालत ने चौटाला को ये हुक्म भी दिया है कि वो अपने पासपोर्ट से भी दस्तबरदार हो जाएं और उसे अदालत में जमा करवा दें और अदालत की इजाज़त के बगै़र दार-उल-हकूमत छोड़कर ना जाएं। अदालत ने अलबत्ता ये अनोखा हुक्म भी जारी किया कि चौटाला अपनी उबूरी ज़मानत पर रिहा होने के अंदरून 24 घंटों तक अपनी सर्जरी के लिए मीदनता मेडिसिटी में शरीक ना हों।

हाईकोर्ट ने सी बी आई को इस बात की मुकम्मल आज़ादी दी है कि चौटाला की जानिब से मज़कूरा बाला हिदायतों में से किसी भी हिदायत की ख़िलाफ़वरज़ी पर उन की ज़मानत को मंसूख़ कर दिया जाये ।

TOPPOPULARRECENT