Thursday , January 18 2018

सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय RSS को दे कर रक्षामंत्री ने सेना का अपमान किया है: मायावती

नई दिल्ली। रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर द्वारा सेना की ”सर्जिकल स्ट्राइक” का सारा श्रेय आरएसएस को देने पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि मंत्री ने सेना की बहादुरी का श्रेय पहले प्रधानमंत्री मोदी को दिया इसके बाद अब सारी बहादुरी संघ के नाम कर उन्होंने वीर सैनिकों का अपमान किया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

नेशनल दस्तक के अनुसार मायावती ने बयान जारी कर कहा कि पाकिस्तान के क़ब्ज़े वाले कश्मीर में घुसकर, अपनी जान हथेली पर रखकर आतंकियों के खिलाफ सफल सर्जिकल स्ट्राइक करने के लिये सेना की प्रशंसा जरूरी है, लेकिन बीजेपी व देश के रक्षा मंत्री तथा स्वयं प्रधानमंत्री द्वारा इसका श्रेय लेकर राजनीतिक लाभ उठाने का प्रयास करना बिल्कुल ग़लत है। उन्होंने कहा कि, सेना की इस कार्रवाई का उत्तर प्रदेश के चुनावों में चुनावी लाभ उठाने का प्रयास उतना ही ग़लत व निन्दनीय है, जितना की रक्षा मन्त्री द्वारा इस सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय आरएसएस जैसे संगठन को देना।

मायावती ने आरएसएस को सबसे ज़्यादा विवादित संस्था बताते हुए कहा कि इसका एजेंडा घृणा व नफरत पर आधारित है। उनके मुताबिक अपने आपको सांस्कृतिक संस्था घोषित करने वाले आरएसएस के लोग हमेशा राजनीतिक उद्देश्य से ही काम करते हैं और चुनावों में भी अपनी खास मानसिकता के तहत एक विशेष पार्टी को लाभ पहुँचाने के लिए ही काम करते हैं। अब तो इनके लोग खुले तौर पर बीजेपी व उसकी सरकार में शामिल हैं।
उन्होंने कहा कि वास्तव में भाजपा उत्तर प्रदेश में अपनी खस्ताहाली को लेकर काफी ज्यादा परेशान है, इसीलिए वह अब हर तरह से ”देशभक्ति व राष्ट्रवाद” आदि के अविवादित विषय की आड़ में राजनीति करने की कोशिश की जा रही है। इतना ही नहीं बल्कि इसी क्रम में भाजपा द्वारा दूसरी पार्टियों में तोड़-फोड़ करके उन्हें अपनी पार्टी में शामिल करते रहने से भी यह साबित होता है कि उत्तर प्रदेश के मामले में भाजपा कितनी ज्यादा हताश है।

TOPPOPULARRECENT