Tuesday , December 12 2017

सर सैयद अहमद खान की 200वीं जयंती समारोह : भाजपा नेताओं को आमंत्रित करने का विरोध

अलीगढ़ : अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के संस्थापक सर सैयद अहमद खान की 200वीं जयंती समारोह में शामिल हाेने के लिए कुछ भाजपा नेताओं को आमंत्रण दिये जाने का मामला तूल पकड़ चुका है. वीसी को लिखे पत्र में छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रशासन से पूछा है कि क्या राज्य सरकार के दबाव में आकर भाजपा नेताओं को आमंत्रित किया गया है.  छात्रों ने वाइस चांसलर तारिक मंसूर को इस संबंध में अल्टीमेटम दिया है और अपना पक्ष रखने की मांग की है.

अलीगढ़ जिले के भाजपा अध्यक्ष देवराज सिंह और संदीप सिंह को दिए गये निमंत्रण को लेकर छात्रों ने खुद को अंधेरे में रखने का आरोप लगाया है. छात्रों की दलील है कि डीयू के छात्रों ने सर सैयद अहमद की 200वीं जयंती पर चर्चा का आयोजन किया था तो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने इसे बाधित किया था. उनका कहना रहा है कि सैयद ने दो राष्ट्र सिद्धांत का समर्थन किया था, ऐसे में उन्हें इस आयोजन में कैसे बुलाया गया.

इस मुद्दे पर एएमयू प्रशासन के जनसंपर्क कार्यालय ने अपने आधिकारिक पेज अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी न्यूज पर एक संदेश जारी कर कहा है कि प्रोटोकॉल के एक हिस्से के तौर पर पूर्व राष्ट्रपति के दौरे के लिए यूपी प्रदेश सरकार द्वारा एक मंत्री को ‘मिनिस्टर इन वेटिंग’ के रूप में नामित किया गया था और इस बारे में जिला प्रशासन द्वारा विश्वविद्यालय को सूचित किया गया था. इस प्रोटोकॉल का पालन ही सर सैयद अहमद खान के जयंती समारोह में किया गया था.

TOPPOPULARRECENT