Saturday , December 16 2017

सशस्त्र सीमा बल की अपनी खुफिया यूनिट लॉन्च

नई दिल्ली : सशस्त्र सीमा बल की इंटेलिजेंस यूनिट की शुरुआत की गई है। इस इंटेलिजेंस विंग में 650 लोग होंगे जो आतंकियों, घुसपैठियों, ड्रग/नकली करंसी/वन्य पशुओं की तस्करी करने वालों पर नजर रखेंगे। यह विंग आवश्यक सूचनाएं एकत्र करेंगे।

गृहमंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि नेपाल और भूटान के साथ वीजा-मुक्त सहयोग होने के कारण अपराधियों और राष्ट्र-विरोधी तत्वों का सीमा से आरपार आवागमन होता है, जो देश के लिए बड़ी चुनौती है। इस यूनिट का मुख्य काम भूटान और नेपाल की सीमा पर होगा। इससे पहले एसएसबी को आतंकियों या स्मगलर के किसी एक्शन की जानकारी के लिए आईबी की रिपोर्ट्स पर निर्भर रहना पड़ता था। लेकिन अब सूचनाएं एकत्रित करने का काम अब यह विंग खुद करेगी। जिसकी वजह से बॉर्डर और सुरिक्षत राह पायेगा

भूटान और नेपाल के साथ वीजा फ्री संबंधों की वजह से इस बॉर्डर एरिया में अपराधियों की गतिविधियों पर नजर रख पाना काफी मुश्किल होता है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान के रहने वाले करीब 230 कश्मीरी आतंकी भारत-नेपाल सीमा के जरिए अपने घरों को वापस जा चुके हैं। यह आंकड़ा 2010 से अब तक का है। वहीं भूटान बॉर्डर पर एनडीएफबी जैसे आतंकी समूहों की आवाजाही है।

यूनिट की शुरुआत के मौके पर गृहमंत्री ने कहा कि कुछ खबरें बिल्कुल बेबुनियाद और मनघड़ंत होती हैं। ऐसे में राजनाथ सिंह ने जवानों से सोशल मीडिया पर चल रही सभी खबरों को सच न मानने की बात कही

TOPPOPULARRECENT