Wednesday , September 19 2018

ससटेमा 8 हलक़ों में मुवासलाती स्पक्ट्रम‌ हासिल करने में कामयाब

नई दिल्ली । 11 । मार्च (पी टी आई) रूसी वफ़ाक़ ससटेमा हिंदूस्तानी शाख़ आज 8 हलक़ों में 3639 करोड़ रुपय के इव्ज़ मुवासलाती स्पक्ट्रम‌ हासिल करने में कामयाब होगई । दीगर तमाम कंपनियों ने इस नीलामी का बाईकॉट किया था । ससटेमा श्याम टेली सरवेसज़ लि

नई दिल्ली । 11 । मार्च (पी टी आई) रूसी वफ़ाक़ ससटेमा हिंदूस्तानी शाख़ आज 8 हलक़ों में 3639 करोड़ रुपय के इव्ज़ मुवासलाती स्पक्ट्रम‌ हासिल करने में कामयाब होगई । दीगर तमाम कंपनियों ने इस नीलामी का बाईकॉट किया था । ससटेमा श्याम टेली सरवेसज़ लिमिटेड (एस इस टी अल) ने गुज़िश्ता साल सुप्रीम कोर्ट की जानिब से 122 वायरलेस मोबाईलस परमिट धोका दही के इल्ज़ामात के दौरान मंसूख़ किए जाने के पेशे नज़र गुमशुदा फ़िज़ाई अम्वाज वापिस हासिल करने केलिए बोली दी थी, मोतमिद मुवासलात आर चन्द्र शेखर ने कहा कि नीलामी सिर्फ़ 3 मरहलों में ख़त्म होगई जबकि वाहिद बोली दहिंदा एस एस टी एल ने अक़ल्ल तरीन बोली की कीमत देते हुए 8 हलक़ों के लिए मुवासलाती स्पक्ट्रम‌ हासिल करलिया।

इस ने पहले ही निस्फ़ कमी की जा चुकी थी जबकि नवंबर में किसी भी कंपनी ने बियान्ड केलिए बोली नहीं दी थी। 8 मुवासलाती हलक़ों में जुमला 24 ब्लॉक मुख़तस किए गए हैं जो नीलामी केलिए पेश किए हुए जुमला 61 ब्लॉक्स में शामिल थे। बह अलफ़ाज़ दीगर जुमला स्पक्ट्रम‌ का 40 फ़ीसद हिस्सा नीलामी केलिए पेश किया गया था जो ससटेमा ने हासिल करलिया। कीमत के एतबार से स्पक्ट्रम‌ की कीमत 3639 करोड़ रुपय में हासिल की गई है। स्पक्ट्रम‌ की 56 फ़ीसद मालियत से थोड़ी सी ज़्यादा है जो नीलामी में पेश किया गया था।

हुकूमत इमकान है कि 1626 करोड़ रुपय से ज़्यादा अदाएगी हासिल नहीं करसकेगी और उसको एस एस टी एल लाईसैंस फीस के हिसाब में शुमार करेगी जो वो 2008 में अदा करचुकी है। सुप्रीम कोर्ट ने एस एस टी एल के 21 लाईसैंस भी मंसूख़ कर दिए थे। नीलामी के नतीजे से मर्कज़ी वज़ीर फिनानस‌ पी चिदम़्बरम की 19400 करोड़ रुपय स्पक्ट्रम‌ की फ़रोख़त से जारीये माली साल के दौरान हासिल करने की कोशिश पर पानी फिर गया। उन्होंने क़बल अज़ीं बजट के ख़सारे में कमी करने केलिए स्पक्ट्रम‌ के नीलामी से 40,000 करोड़ रुपय हासिल करने का मंसूबा बनाया था।

दुनिया भर के दूसरे सब से बड़े मोबाईल फ़ोन बाज़ार में 12 मुवासलाती कंपनियों में से बिशमोल अनील अंबानी की रिलाइंस कमुनिकेशन‌ और टाटा टेली सरविसेस‌ ने नीलामी में शिरकत नहीं की। समझा जाता है कि हुकूमत की जानिब से बोली के आग़ाज़ की जो कीमत मुक़र्रर की गई थी इन कंपनियों की नज़र में ये कीमत बहुत ज़्यादा थी। नवंबर में स्पक्ट्रम‌ के गुज़िश्ता नीलामी में सिर्फ़ पाँच बोली दहिंदगान ने हिस्सा लिया था लेकिन इन में से किसी ने भी 800 एम एच ज़ेड स्पक्ट्रम‌ के लिए बोली नहीं दी थी जिस के लिए आज ससटेमा ने बोली दी है। इस नीलामी से हुकूमत को 9407 करोड़ रुपय हासिल हुए हैं जबकि हुकूमत को तवक़्क़ो थी कि वो इस नीलाम से 27000 करोड़ रुपय हासिल करेगी।

TOPPOPULARRECENT