Friday , December 15 2017

ससुराल में दामाद की गला रेत कर कत्ल

मधुसूदनपुर थाना इलाक़े के मनोहरपुर गांव के आम बगीचा में छेदी मोदी को गला रेत कर कत्ल कर दी गयी। वाकिय जुमेरात रात की है, लेकिन मामले का खुलासा जुमा सुबह में हुआ। छेदी असल तौर से सुलतानगंज थाना इलाक़े के मोदी टोला-घाट रोड का रहनेवाले

मधुसूदनपुर थाना इलाक़े के मनोहरपुर गांव के आम बगीचा में छेदी मोदी को गला रेत कर कत्ल कर दी गयी। वाकिय जुमेरात रात की है, लेकिन मामले का खुलासा जुमा सुबह में हुआ। छेदी असल तौर से सुलतानगंज थाना इलाक़े के मोदी टोला-घाट रोड का रहनेवाले थे।

गुजिशता छह साल से घर जमाई बन ससुराल मनोहरपुर में रह रहे थे। वह सुलतानगंज के बिंदा सिंह गली में वाकेय आइसक्रीम फैक्टरी में काम करते थे। पुलिस ने इस मामले में दो जमीन कारोबारी राजेश यादव (सरदारपुर) और गुड्डू (मनसर) को गिरफ्तार किया है। कत्ल के पीछे मैयत के ससुर छब्बी मोदी की तीन करोड़ की जमीन है, जिसे जमीन के कारोबारी पार्ट बाय पार्ट खरीद कर बेच रहे थे। वाकिया की जानकारी मिलते ही सिटी एएसपी वीणा कुमारी, नाथनगर इंस्पेक्टर महफूज आलम, मधुसूदनपुर थानेदार राकेश कुमार गुप्ता मौके पर पहुंचे और मामले की छानबीन की। वह अपने पीछे बीवी, दो बच्चा समेत भरा-पूरा खानदान छोड़ गया है। पुलिस की शुरुआती जांच में छेदी के कत्ल के पीछे जमीन कारोबारियों की मौलूसियत का पता चला है। मामले में जमीन कारोबार गोपाल का भी नाम आया है।

क्या है विवाद

छब्बी के पास कुल सात बीघा जमीन है। इसमें बेशकीमती आम का बगीचा भी शामिल हैं। करोड़ों की इस जमीन पर कई कारोबारियों की नजर है। कारोबारी राजेश यादव ने 52 लाख रुपये में छब्बी से कुछ जमीन का एग्रीमेंट भी करवाया। पुलिस के मुताबिक राजेश ने छब्बी को 40 लाख रुपये भी दिये और जमीन की प्लॉटिंग करा ली। छोटी बेटी निर्मला का कहना है कि जमीन कारोबारियों ने एक साजिश के तहत उनके वालिद की सारी जमीन गलत तरीके से लिखा ली। वालिद बहियार में रहते थे और जमीन कारोबारी उन्हें ले जाकर कुछ पैसे दे देते थे और जहां-तहां टीप निशान ले लेते थे। अब महज़ एक बीघा की जमीन बची थी। इस जमीन को बेचने का हमलोग मुखालिफत कर रहे थे। इस वजह से जमीन कारोबारियों ने धमकी भी दी थी। मेरे शौहर का कहना था कि चूंकि सारी जमीन बिक गयी है तो कम से कम एक बीघा जमीन को रख लीजिए। क्योंकि हमलोग ससुराल में रह रहे हैं। छब्बी और जमीन कारोबारियों के बीच दामाद छेदी रोड़ा बना रहा था, इस वजह उसे रास्ते से हटा दिया गया।

TOPPOPULARRECENT