Wednesday , September 26 2018

सहयोगी दलों के साथ अब बीजेपी के अच्छे संबंध नहीं रहे, 2019 चुनाव होगा मुश्किल- शिवसेना

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने से नाराज तेलुगू देशम पार्टी ने सरकार से अलग होने का फैसला कर लिया है। टीडीपी प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने बुधवार देर रात प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसका ऐलान कर दिया।

वही इस घोषणा के बाद राजनीति गलियारों में भी चर्चाएं शुरू हो गई है। एनडीए से बागी चल रही शिवसेना ने टीडीपी के इस फैसले को भाजपा के लिए चुनौतीपूर्ण बताया।

पार्टी नेता संजय राउत ने कहा कि उन्हे इसकी उम्मीद थी अन्य पार्टियां भी एनडीए से अलग हो रही हैं। उन्होंने कहा कि सहयोगी दलों के पास अब भाजपा के साथ अच्छे संबंध नहीं हैं।

धीरे-धीरे उनकी शिकायतें खत्म हो जाएंगी और वे गठबंधन से बाहर निकल जाएंगे। शिवसेना पिछले कुछ समय से केंद्र सरकार पर हमलावर है।शिवसेना की मनीषा कायंदे ने कहा कि टीडीपी से पहले उद्धव ठाकरे की अगुवाई में पार्टी अपना स्टैंड साफ कर चुकी है।

भाजपा को इस बारे में सोचना होगा। उन्होंने कहा कि एनडीए के पुराने साथियों को एक साथ रहना होगा।

TOPPOPULARRECENT