Friday , December 15 2017

सहाफ़ीयों के मसाइल को हल करने के लिए रियासती हुकूमत संजीदा

निज़ामबाद 10 जनवरी: सहाफ़ीयों के मसाइल को हल करने के लिए रियासती हुकूमत संजीदा है, इन ख़्यालात का इज़हार प्रेस एकेडेमी के चैरमैन अलम नारायणा निज़ामबाद में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया जर्नलिस्ट यूनीयन की तरफ से मुनाक़िदा मीटिंग से मुख़ातिब करते हुए किया।

सहाफ़ीयों को हेल्थ कार्ड की फ़राहमी अमल में लाई जा रही है और ज़िला के तमाम सहाफ़ीयों को हेल्थ कार्ड मंज़ूर किए जाऐंगे। आने वाले दिनों में यूनीयन की क़ियादत नौजवानों के हवाले करते हुए वो अलाहिदगी इख़तियार करने के लिए तैयार हैं। और अलाहिदगी इख़तियार करने तक सहाफ़ीयों के मसाइल के हल के लिए जद्द-ओ-जहद जारी रखने का इरादा ज़ाहिर किया।

एक्रीडेशन याफताह सहाफ़ीयों के अलावा दुसरे सहाफ़ीयों को भी हेल्थ कार्ड फ़राहम किए जा रहे हैं। रियासती हुकूमत जर्नलिस्ट की फ़लाह बहबूदी के लिए 10 करोड़ रुपये मंज़ूर किया है। सीमांध्र हुकूमत की नाकामी की वजह से ही हेल्थ कार्ड की फ़राहमी में ताख़ीर हुई है। तेलंगाना के जद्द-ओ-जहद में सहाफ़ीयों का अहम किरदार रहा। रिहायशी मकानात की फ़राहमी के लिए चीफ़ मिनिस्टर चन्द्रशेखर राव‌ से बातचीत करने का इरादा ज़ाहिर किया।

TOPPOPULARRECENT