Saturday , December 16 2017

सहारनपुर में तनाव: मज़हबी मुकाम पर फेंका सुतली बम

ऐसा पहली मरतबा नहीं हुआ है जब सहारनपुर के माहौल बिगाड़ने की हरकत की गई हो। एक महीने से कम दिनों में ही बेहट में टकराव हुआ। इससे पहले मजहबी मुकामात पर खुराफात कर फिज़ा बिगाड़ने की कोशिश हुई, लेकिन किसी भी मामले में पुलिस खुराफातियों

ऐसा पहली मरतबा नहीं हुआ है जब सहारनपुर के माहौल बिगाड़ने की हरकत की गई हो। एक महीने से कम दिनों में ही बेहट में टकराव हुआ। इससे पहले मजहबी मुकामात पर खुराफात कर फिज़ा बिगाड़ने की कोशिश हुई, लेकिन किसी भी मामले में पुलिस खुराफातियों तक नहीं पहुंच पाई।

आलम यह है कि सितंबर में मुजफ्फरनगर दंगे के दौरान सहारनपुर में कई वाकियात से माहौल में तनाव फैला। कुछ लोगों की जानें गई, लेकिन पुलिस एक भी मामले का खुलासा नहीं कर पाई।

फज़र की नमाज के बाद पीर की सुबह तकरीबन 6:30 बजे मौलवी अब्दुल्ला पास ही चाय पीने निकले। मस्जिद में जमात भी आई हुई थी और लोग अपने कामों में मशरूफ थे।

इसी दौरान अचानक तेज धमाका हुआ और मस्जिद के मेन गेट पर धुआं निकलता दिखाई दिया। आवाज सुनकर मौलवी साहब तेजी से मस्जिद की ओर भागे। वहां से एक सेंट्रो कार तेजी से उनकी आंखों से ओझल हो गई।

पहले तो उन्हें मामला समझ में ही नहीं आया, लेकिन गेट के पास आने पर सुतली बम के बकियात मिले। भाग रही बेकाबू कार आगे कुछ दूर चलकर स्कूटर सवार से टकराई।

वहां लोगों ने उसका नंबर भी नोट किया। जब तक लोग कार तक पहुंच पाते, खुराफाती कार समेत फरार हो गए।

इस वाकिया से शहर में तनाव फैल गया। मौके पर भीड़ जमा हो गई। इस बीच मआशरे के मोअज्जिज लोग भी वहां पहुंचे। मौलवी फरीद, शायान मसूद वगैरह कई लोगों ने माहौल शांत कराया। पुलिस भी पहुंची और पूछताछ की।

सुतली बम के बकियात और दिगर मालूमात लेकर पुलिस वापस लौट गई। एसएसपी राजेश पांडेय ने भी मौका पर जाकर मुआयना किया। जांच में कार का नंबर स्कूटर का बताया गया है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। एहतियात के तौर पर आसपास पुलिस तैनात कर दी गई है।

——————बशुक्रिया: अमर उजाला

TOPPOPULARRECENT