Thursday , December 14 2017

साइकल रेंटल सर्विस शुरू करने की तैयारी में ओला, आईआईटी कानपुर में ट्रायल चालू

बेंगलुरु : कैब सर्विस मुहैया करानेवाली कंपनी ओला देश में साइकल रेंटल सर्विस शुरू करने की तैयारी में हैं। ओला आईआईटी कानपुर कैंपस में ओला पेडल नाम से साइकल रेंटल सर्विस का टेस्ट कर रही है। स्टूडेंट्स ओला ऐप के जरिए जिस तरह से कैब बुक करते हैं, उसी तरह से साइकल भी किराए पर ले सकते हैं।’

ओला के बयान में कहा गया है, ‘हमें देश के तमाम कैंपसों और शहरों में ओला पेडल में लोगों की काफी दिलचस्पी देखने को मिल रही है। हम आनेवाले हफ्तों में अपने ऑफर का दायरा बढ़ाने को लेकर काम कर रहे हैं।’

माना जा रहा है कि युवाओं के बीच साइकल के लोकप्रिय होने की गुंजाइश है, लिहाजा आम लोगों के बीच इसे पॉप्युलर बनाने से पहले कैंपस में इस सर्विस का टेस्ट किया जाएगा। एक ओला एग्जिक्युटिव ने बताया कि आईआईटी कानपुर में पेश की गई ओला की मौजूदा साइकिलों में बेहतर सिक्यॉरिटी फीचर्स नहीं हैं, लेकिन अगले लॉट में क्यूआर कोड और जीपीएस ट्रैकिंग की व्यवस्था रहने की उम्मीद है।

आईआईटी कानपुर में यूजर्स को ट्रायल रन के तहत 30 मिनट के लिए साइकिल की सवारी मुफ्त मुहैया कराई जाती है। उन्होंने बताया, ‘इस पर काफी सब्सिडी है, लिहाजा ओला पेडल सर्विस के रफ्तार पकड़ने तक यह स्टूडेंट समुदाय की जरूरत पूरी करेगा। ओला ने कानपुर आईआईटी कैंपस में 300 साइकिलों के साथ अपनी ये सर्विस शुरू की है। हर हॉस्टल, लाइब्रेरी और एकेडमिक भवन के सामने ये साइकिलें उपलब्ध हैं। ओला ने इस सर्विस की शुरुआत आईआईटी में प्रोमो के साथ की है। आप ओला साइकिल की बुकिंग ओला के ऐप के जरिए कर सकते है। पहले 30 मिनट ये सर्विस फ्री है, लेकिन इसके बाद हर 30 मिनट के लिए 5 रुपए का चार्ज वसूला जाएगा।

इधर, बेंगलुरु की एक और साइकल शेयरिंग स्टार्टअप युलू की योजना इस महीने जीपीआरएस, जीपीएस और ब्लूटुथ से लैस साइकल सर्विस लॉन्च करने की है। इसके तहत यूजर्स युलू ऐप के जरिये क्यूआर कोड का इस्तेमाल कर इसे अनलॉक कर पाएंगे और पेमेंट के लिए ऐप से डिजिटल वॉलिट भी लिंक्ड होगा।

TOPPOPULARRECENT