Saturday , December 16 2017

सात अरब अफ़राद को पानी की ज़रूरत

पाकिस्तान दुनिया के इन 17 ममालिक में शामिल है जो पानी की क़िल्लत का शिकार हैं। पाकिस्तान समेत दुनिया भर में पानी का आलमी दिन मनाया गया। इस दिन को मनाने का मक़सद पीने के पानी की एहमीयत को उजागर करने के साथ उसे महफ़ूज़ बनाने की ज़रूरत पर ज़ो

पाकिस्तान दुनिया के इन 17 ममालिक में शामिल है जो पानी की क़िल्लत का शिकार हैं। पाकिस्तान समेत दुनिया भर में पानी का आलमी दिन मनाया गया। इस दिन को मनाने का मक़सद पीने के पानी की एहमीयत को उजागर करने के साथ उसे महफ़ूज़ बनाने की ज़रूरत पर ज़ोर देता है।

इस दिन का आग़ाज़ 1992 में अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की माहौल और तरक़्क़ी के उनवान से मुनाक़िद कान्फ्रेंस की सिफ़ारिश पर हुआ था जिसके बाद 1993 से हर साल 22 मार्च को पानी का आलमी दिन मनाया जाता है। रवां साल इस कान्फ्रेंस का उनवान दुनिया प्यासी है क्योंकि हम भूके हैं ।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के मुताबिक़ दुनिया में इस वक़्त सात अरब अफ़राद को रोज़ाना पानी और ख़ुराक की ज़रूरत होती है जिन की ताद 2050 तक बढ़ कर नौ अरब होने का इम्कान है। अक़वाम-ए-मुत्तहिदा के मुताबिक़ दुनिया भर में इस वक़्त सात अरब अफ़राद को रोज़ाना पानी और ख़ुराक की ज़रूरत होती है।

TOPPOPULARRECENT