Sunday , September 23 2018

साबिक़ कांस्टेबल अबदुलक़दीर के इंतिक़ाल की अफ़्वाह

साबिक़ पुलिस कांस्टेबल अबदुलक़दीर के इंतिक़ाल की ख़बर अचानक फैलते ही अवाम में बेचैनी और तजस्सुस की लहर दौड़ गई।

साबिक़ पुलिस कांस्टेबल अबदुलक़दीर के इंतिक़ाल की ख़बर अचानक फैलते ही अवाम में बेचैनी और तजस्सुस की लहर दौड़ गई।

ताहम इंतिक़ाल की ख़बर को जेल हुक्काम ने ग़लत और बेबुनियाद क़रार दिया। जेल हुक्काम ने कहा कि अबदुलक़दीर चैरलापली जेल में बक़ैद हयात हैं और उनके इंतिक़ाल की तरदीद की।

बताया जाता हैके अबदुलक़दीर के ख़ानदान वालों को किसी ने बज़रीया फ़ोन गांधी हॉस्पिटल में अबदुलक़दीर के इंतिक़ाल की इत्तेला दी जिस से ख़ानदान वालों पर सकता तारी होगया।

उनकी अहलिया साबरा बेगम भी इस ख़बर की तसदीक़ के लिए बेचैन होगई। ज़राए ने बताया कि गुज़श्ता हफ़्ता अबदुलक़दीर को आंध्र प्रदेश हाइकोर्ट की हिदायत पर गांधी हॉस्पिटल लाया गया था और उन्हें मेडिकल बोर्ड के रूबरू पेश करके उनकी सेहत से मुताल्लिक़ तफ़सीलात रिकार्ड किए गए वाज़िह रहेकि साबिक़ कांस्टेबल अबदुलक़दीर ज़िया बत्तीस और दुसरे कई अमराज़ में मुबतला हैं जिस के बाइस उन का एक पैर साबिक़ में काट दिया गया था और वो तवील अर्सा से ज़ेर-ए-इलाज भी हैं।

डिप्टी इन्सपेक्टर जनरल जेलस (तेलंगाना रीजन) चंद्रशेखर ने आज रात देर गए सियासत न्यूज़ को बताया कि अबदुलक़दीर को गांधी हॉस्पिटल मुंतक़िल नहीं किया गया है और वो जेल में ही महरूस हैं। इसी तरह डिप्टी सुपरिन्टेन्डेन्ट चैरलापली जेल राहुल विश्वास ने भी अबदुलक़दीर की जेल में मौजूदगी और बाहयात होने की तसदीक़ की है।

उन्होंने ये भी बताया कि वो मुताल्लिक़ा पुलिस ओहदेदारों से रब्त पैदा करके अफ़्वाह फैलाने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई के लिए दरख़ास्त पेश करेंगे

TOPPOPULARRECENT