Tuesday , January 23 2018

साबिक़ चैरमैन मुंसीपल आरमोर की वाई एस आर कांग्रेस में शमूलीयत

आरमोर 29 जून: साबिक़ मुंसीपल चैरमैन कनचटी गंगा धर साबिक़ रुक्ने असेंबली-ओ-मौजूदा वाई एस आर कांग्रेस पार्टी सेक्रेटरी के क़रीबी रफ़ीक़ हैं।

आरमोर 29 जून: साबिक़ मुंसीपल चैरमैन कनचटी गंगा धर साबिक़ रुक्ने असेंबली-ओ-मौजूदा वाई एस आर कांग्रेस पार्टी सेक्रेटरी के क़रीबी रफ़ीक़ हैं।

बाजी रेड्डी गवर्धन जो वाई एस राज शेखर रेड्डी के दौर-ए-इक्तदार में और कई साल से कांग्रेस में मौजूद थे, इस असना में बाजी रेड्डी गवर्धन ने कनचटी गंगा धर साबिक़ चैरमैन को आरमोर टाउन सदर कांग्रेस, मंडल सदर कांग्रेस के अलावा उन्हें कौंसिलर का टिकट दिलवाकर चैरमैन की कुर्सी तक पंचा या।

इस तरह बाजी रेड्डी गवर्धन कनचटी गंगाधर के सयासी उस्ताद माने जाते हैं। कई दिनों से सयासी हलक़ों में ये बात ज़ेर-ए-बहिस थी कि साबिक़ चैरमैन बलदिया वाई एस आर कांग्रेस में शामिल होने वाले हैं।

ये बात आज सच्च हुई और साबिक़ चैरमैन बलदिया बाजी रेड्डी गवर्धन की क़ियादत में वाई एस आर कांग्रेस एज़ाज़ी सदर वजय‌ अम्मा की निगरानी में हैदराबाद पार्टी ऑफ़िस में शमूलीयत इख़तियार की।

उनके साथ साबिक़ कौंसिलरस आरमोर बलदिया पोला निरसिया, पानसरीनो ने भी पार्टी में शमूलीयत इख़तियार की। कनचटी गंगाधर ने बताया कि में अपने ओहदे चैरमैन बलदी के ज़माने में पार्टी में शमूलीयत इस लिए इख़तियार नहीं किया कि मेरे वाई एस आर कांग्रेस में शामिल होने पर तरक़्क़ीयाती काम के लिए रुकावट पैदा होगी लेकिन इस के बावजूद भी कांग्रेस हुकूमत आरमोर बलदिया के लिए कोई ख़ास तरक़्क़ीयाती फंड्स जारी नहीं किए। बताया कि मेरे वाई एस आर कांग्रेस में शामिल होने का मक़सद आँजहानी चीफ़ मिनिस्टर वाई एस आर की मुहब्बत का नतीजा है।

TOPPOPULARRECENT