Tuesday , December 12 2017

साबिक़ वाइस चांसलर नलसार वीर सिंह के ई मेल्स जिन्सी हरासानी नहीं , कमेटी की रिपोर्ट

चीफ जस्टिस आफ़ आन्ध्र प्रदेश की जानिब से बहैसियत चांसलर नलसार साबिक़ वाइस चांसलर प्रोफेसर वीर सिंह के ख़िलाफ़ प्रोफेसर अमीता ढनडा , डीन ( एकेडेमिक ) नलसार के जिन्सी हरासानी के इल्ज़ाम की तहकीकात के लिए मुक़र्ररा सह रुकनी कमेटी

चीफ जस्टिस आफ़ आन्ध्र प्रदेश की जानिब से बहैसियत चांसलर नलसार साबिक़ वाइस चांसलर प्रोफेसर वीर सिंह के ख़िलाफ़ प्रोफेसर अमीता ढनडा , डीन ( एकेडेमिक ) नलसार के जिन्सी हरासानी के इल्ज़ाम की तहकीकात के लिए मुक़र्ररा सह रुकनी कमेटी ने जो मिसिज़ राशल चटर्जी , चेयर परसन ए पी पब्लिक सर्विस कमीशन हैदराबाद , मिस्टर ए सुदर्शन रेड्डी ऐडवोकेट जनरल ए पी और मिसिज़ एम मैथ्यू , स्पैशल चीफ सेक्रेट्री हुकूमत आन्ध्र प्रदेश पर मुश्तमिल है ।

अपनी रिपोर्ट चीफ जस्टिस ए पी चांसलर नलसार को पेश कर दी है । कमेटी इस नतीजा पर पहुंची कि 22 और 26 दिसंबर 2011 को साबिक़ वाइस चांसलर प्रोफेसर वीर सिंह की जानिब से प्रोफेसर अमीता ढनडा , डीन ( एकेडेमिक ) को रवाना किए गए ई मेल्स में जिन्सी हरासानी की बात नहीं है जैसा कि प्रोफेसर अमीता ढनडा ने इल्ज़ाम आइद किया है ।

TOPPOPULARRECENT