Monday , December 11 2017

साबिक़ वज़ीर अमरमणि त्रिपाठी की बहू की मुश्तबा हालत में मौत

लखनऊ: हुकूमत उत्तरप्रदेश जेल में मुक़य्यद साबिक़ रियासती वज़ीर अमरमणि त्रिपाठी की बहू सारा सिंह की फीरोज़‌बाद में जारिया माह के अवाइल में एक कार हादिसे में मौत की सी बी आई तहकीकात के लिये सिफ़ारिश करेगी। प्रिंसिपाल सेक्रेटरी ( होम ) मिस्टर देवाशीष पांडा ने बताया कि हुकूमत सारा सिंह केस की सी बी आई तहकीकात के लिये पेशरफ़्त करेगी और इस ख़ुसूस में मतलूब दस्तावेज़ात तलब किए जाएंगे।

सारा सिंह की वालिदा सीमा सिंह ने चीफ मिनिस्टर अखिलेश यादव से मुलाक़ात कर के सी बी आई तहकीकात का मुतालिबा किया और ये इल्ज़ाम आइद किया कि उनकी दुख़तर का क़तल किया गया है। इस मसले पर मीडिया के सवाल का जवाब देते हुए चीफ मिनिस्टर ने बताया कि सोगवार ख़ानदान की तमानियत के लिये हुकूमत हर मुम्किना कोशिश इक़्दामात करेगी।

काबीना इजलास के बाद उन्होंने बताया कि इस केस की गैर जांबदाराना तहकीकात करवाई जाएगी। चीफ मिनिस्टर ने कहा कि सारा सिंह के ख़ानदान को पुलिस‌ तहफ़्फ़ुज़ भी फ़राहम किया जाएगा। वाज़िह रहे कि 27 साला सारा सिंह 9 जुलाई को उस वक़्त हलाक होगई जिस कार में वो सवार थी उसे उनके शौहर अमान मनी चला रहे थे।

कार उलट जाने के हादिसे में वो करिश्माती तौर पर बच गए जिस के बाइस इस हादिसे पर शक-ओ-शुबहात पैदा होगए हैं। जब कि ये इद्दिआ किया गया है कि ज़िला फीरोज़ाबाद में एक साईकिल‌ रां को बचाने की कोशिश में ये हादिसा पेश आया था। सारा सिंह के ख़ानदान ने कार हादिसे को मंसूबा बंद साज़िश क़रार दिया और लखनऊ में रियासती गवर्नर और डायरेक्टर जनरल पुलिस से नुमाइंदगी कर के सी बी आई तहकीकात का मुतालिबा किया है।

पुलिस ने बताया कि अमान मनी त्रिपाठी के ख़िलाफ़ फीरोज़ाबाद के सर सुगानी पुलिस इस्टेशन में 18 जुलाई को क़तल का केस दर्ज किया गया है। वाज़िह रहे कि साबिक़ वज़ीर अमरमणि त्रिपाठी को एक हिन्दी शायरा मधु मीता शुक्ला के क़तल के इल्ज़ाम में सितंबर 2003 में गिरफ़्तार किया गया। जिस के साथ उनके नाजायज़ ताल्लुक़ात थे। इस केस में उन्हें उम्र कैद की सज़ा-ए-सुनाई गई है।

TOPPOPULARRECENT