Thursday , December 14 2017

सामुहिक बलात्कार के मामले में गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका को अदालत ने फिर किया खारिज

लखनऊ। सामुहिक दुष्कर्म के मामले में गायत्री प्रसाद प्रजापति की एक बार फिर जमानत याचिका खारिज कर दी गई है। यह उनकी दूसरी जमानत याचिका थी। उनकी दुसरी बार दी गई जमानत याचिका पर बुधवार को पास्को अदालत ने खारिज कर दिया।

स्पेशल पास्को अदालत के न्यायाधीश उमा शंकर शर्मा ने प्रजापति की तरफ से दायर की गयी जमानत याचिका को खारिज कर दिया। उमा शंकर शर्मा ने गैंगरेप व जानमाल की धमकी के एक मामले में जेल में बंद गायत्री प्रसाद प्रजापति की दूसरी जमानत अर्जी खारिज कर दी।

अदालत ने अपने आदेश में कहा कि इस मामले में अन्य मुल्जिमों की जमानत अर्जी पहले ही खारिज हो चुकी है, जबकि यह मुल्जिम इस मामले का मुख्य आरोपी है एवं राजनैतिक रूप से प्रभावशाली व्यक्ति भी है।

जमानत पर छूटने के बाद गवाहों पर अनुचित दबाव बना सकता है जिससे उनके जीवन को खतरा पैदा कर सकता है। लिहाजा उसे जमानत पर छोड़े जाने का आधार नहीं है।

TOPPOPULARRECENT