साम्प्रदायिक हिंसा की चपेट में बिहार का जमुई, दुसरे दिन हालात बेकाबू

साम्प्रदायिक हिंसा की चपेट में बिहार का जमुई, दुसरे दिन हालात बेकाबू
Click for full image

पटना। मुहर्रम और दुर्गापूजा के एक साथ होने के कारण कई जिलों में उपद्रवियों ने मौके का खूब फायदा उठाया। जमुई में उपद्रवियों का तांडव इतना बढ़ गया कि प्रशासन को इंटरनेट सेवा तक बंद कर देनी पड़ी. दुकानों को आग के हवाले कर दिया गयाा।

जिलाधिकारी पर भी हमला किया गया। वहीं, सीतामढ़ी में दूसरे दिन हिंसक झड़प के बावजूद 77 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसके अलावा बगहा और गया में भी उपद्रवियों का तांडव देखने को मिला।
दूसरे दिन भी अशांत रही जमुई, तोड़फोड़, आगजनी व फायरिंग, बंद रहा बाजार, इंटरनेट सेवा ठप।

जमुई शहर लगातार दूसरे दिन भी अशांत रहा। सोमवार सुबह प्रशासन की मौजूदगी में ताजिया जुलूस निकालने की कोशिश के बाद स्थिति फिर बिगड़ गयी। पहले तो पथराव शुरू हुआ और देखते ही देखते पूरा इलाका रणभूमि में तब्दील हो गयाा। लोग घरों में दुबक गयाे।

उपद्रवियों ने तोड़फोड़ की। दुकानों को आग के हवाले कर दिया. इस दौरान एक बार गोली चलने की भी आवाज सुनाई दी। गोली लगने से दो घायल हो गये, जिसे बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया है।

Top Stories