Tuesday , August 14 2018

साल नौ के मौक़ा पर बैन मज़ाहिब इजतिमा(सम्मेलन‌)

हैदराबाद ०२ जनवरी : ( रास्त ) : सिटीज़न कौंसल आँध्र प्रदेश की जानिब से आज शहर के मर्कज़ी मुक़ाम आबिडज़ पर 2013 साल नौ के पेशे नज़र बैन उल मज़ाहिब के मर्द-ओ-ख़वातीन, तलबा-ए-ओ- तालिबात-ओ-नौजवान एक दूसरे को मुबारकबाद देते हुए अमन, फ़िर्कावारा

हैदराबाद ०२ जनवरी : ( रास्त ) : सिटीज़न कौंसल आँध्र प्रदेश की जानिब से आज शहर के मर्कज़ी मुक़ाम आबिडज़ पर 2013 साल नौ के पेशे नज़र बैन उल मज़ाहिब के मर्द-ओ-ख़वातीन, तलबा-ए-ओ- तालिबात-ओ-नौजवान एक दूसरे को मुबारकबाद देते हुए अमन, फ़िर्कावाराना हम आहंगी, तरक़्क़ी के ज़िमन में ख़ुदाए बुज़ुर्ग-ओ-बरतर से दुआएं करते हुए देखे गए ।

इन तमाम मज़ाहिब से वाबस्ता अफ़राद ने अपने दुआइया कलिमात में मुलक की तरक़्क़ी , भलाई-ओ-ख़ुशहाली के लिए भी दुआएं की और कहा कि सदीयों से ये मुल्क फ़िर्कावाराना हम आहंगी की फ़िज़ा-ए-को बरक़रार रखे हुए है।

ख़ुसूसीयत के साथ जंग-ए-आज़ादी के बाद से यहां के बाशिंदों ने तो इस बात का तहय्या किया कि इस मुलक को हमेशा पाक-ओ-साफ़ बुनियादों पर क़ायम रखा जाएगा और यहां किसी किस्म की फ़िर्कावारीयत पैदा ना होगी लेकिन चंद अनासिर यहां की फ़िज़ा-ए-को मुकद्दर करने के लिए तग-ओ-दो कर रहे हैं ।

मौलाना पीरज़ादा सय्यद शाह तनवीर आलम कादरी इल्मो सोई , मिस्टर ऐम ऐस प्रभाकर राव‌ ऐम अलसी , प्रोफ़ैसर पुरुषोत्तम रेड्डी , फ़िरोज़ ख़ां , मागरीट फ़्रांस , मिस्टर ज्ञान सिंह , डाक्टर किरण कुमार , मुहतरमा नागा लक्ष्मी ऐडवोकेट , सहाफ़ी मुहम्मद नस्र अल्लाह ख़ां , डाक्टर ज़बीह-उल-ल्लाह तात जीत दहानी-ओ-दीगर मौजूद थे ।

TOPPOPULARRECENT