Friday , December 15 2017

सितम्बर से कबल अल्हायदा तेलंगाना का एलन की या जायेगा

अलाहिदा तलंगाना तहरीक केलिए सरकारी मुलाज़मीन की जानिब से गुज़श्ता साल की गई आम हड़ताल की याद में आज इंदिरा पार्क पर तलंगाना तंज़ीमों की जानिब से धरना मुनज़्ज़म किया गया जिस में मुख़्तलिफ़ सयासी जमातों के क़ाइदीन ने शिरकत की और अलािहदा त

अलाहिदा तलंगाना तहरीक केलिए सरकारी मुलाज़मीन की जानिब से गुज़श्ता साल की गई आम हड़ताल की याद में आज इंदिरा पार्क पर तलंगाना तंज़ीमों की जानिब से धरना मुनज़्ज़म किया गया जिस में मुख़्तलिफ़ सयासी जमातों के क़ाइदीन ने शिरकत की और अलािहदा तलंगाना के हुसूल केलिए जद्द-ओ-जहद करने का अह्द
किया। इस दिन को तलंगाना के हुसूल की जद्द-ओ-जहद में वक़्फ़ होजाने के तौर पर मनाया गया। तलंगाना एम्पलॉयज़ जवाइंट ऐक्शण कमेटी ने इस का
एहतिमाम किया था। तलंगाना पोलीटिक्ल जवाइंट ऐक्शण कमेटी के सदर नशीन प्रोफ़ैसर कूद नड्डा राम , टी आर ऐस रुकन असैंबली हरीश राव, कांग्रेस रुकन
असैंबली वेंकट रेड्डी, तलंगाना नग़ारा समीती के रुकन असैंबली नागम जनार्धन रेड्डी के इलावा जे ए सी के क़ाइदीन स्वामी गौड़, सरीनवास गौड़, विट्ठल, देवी प्रसाद राव और दूसरों ने हिस्सा लिया। इस मौक़ा पर मुक़र्ररीन ने मर्कज़ी हुकूमत को 30 सितंबर से क़बल अलाहिदा तलंगाना के हक़ में ऐलान
करने का अल्टीमेटम दिया और कहा कि किसी भी ताख़ीर की सूरत में संगीन नताइज
बरामद होंगे।

एम्पलॉयज़ जे ए सी की अपील पर तलंगाना के तमाम अज़ला में आज रिया लियां और धरना मुनज़्ज़म किया गया। प्रोफ़ैसर कूद नड्डा राम ने मर्कज़ी हुकूमत को धमकी दी कि अगर वो अपने वाअदा के मुताबिक़ तलंगाना की तशकील में ताख़ीर करेगी तो संगीन नताइज बरामद होंगे और इस के लिए हुकूमत ज़िम्मेदार
होगी। उन्हों ने जय ए सी की जानिब से तए करदा एहितजाजी लाहे मल का तज़किरा किया और कहा कि 30 सितंबर को चलो हैदराबाद प्रोग्राम के ज़रीया तलंगाना
अवाम अपनी ताक़त का मुज़ाहरा करेंगे। उन्हों ने तलंगाना रियासत की तशकील को यक़ीनी क़रार देते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के पास मज़ीद कोई बहाने की
गुंजाइश नहीं है। टी आर ऐस रुकन असैंबली हरीश राव ने तलंगाना मुलाज़मीन की सताइश की और कहा कि गुज़श्ता साल आम हड़ताल के ज़रीया मुलाज़मीन ने
नज़म-ओ-नसक़ को ठप करदिया था। मलिक की तारीख़ में ये पहला मौक़ा था जब चीफ़ मिनिस्टर को भी वक़्त पर तनख़्वाह नहीं मिली थी। इस मसला पर पार्लीमैंट
में भी मुबाहिस हुए।

उन्हों ने कहा कि जद्द-व-जहद आज़ादी में भी इस क़दर बड़ी तादाद में अवाम ने एहतिजाज में हिस्सा नहीं लिया था। उन्हों ने कहा
कि टी आर ऐस तलंगाना के आजलाना हुसूल की जद्द-ओ-जहद कररही है। हरीश राॶ ने कहा कि गुज़श्ता साल की गई आम हड़ताल ने तलंगाना अवाम को मुत्तहिद
करदिया था और ये बात साबित होगई कि सयासी क़ाइदीन की जद्द-व-जहद नहीं बल्कि अवामी जद्द-व-जहद है। अवामी नुमाइंदों से ज़्यादा सरकारी मुलाज़मीन
ने एहतिजाज में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। उन्हों ने तलंगाना के अवामी नुमाइंदों पर तन्क़ीद की कि लम्हा आख़िर में अवामी नुमाइंदों ने अस्तीफ़े
के मसला पर राह फ़रार इख़तियार की। हरीश राव ने तलंगाना के वुज़रा और कांग्रेस अरकान असैंबली को सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि
कांग्रेस पार्टी ने तलंगाना की तशकील का वाअदा किया था और इस मसला को इंतिख़ाबी मंशूर में भी शामिल किया गया था लेकिन बाद में कांग्रेस ने
अवाम से धोका दही की। हरीश राॶ ने कहा कि टी आर उसको वोट और नशिस्तों से ज़्यादा तलंगाना रियासत के हुसूल से दिलचस्पी है। 2014ए- में टी आर इसको
100 से ज़ाइद नशिस्तें हासिल होसकती हैं, लेकिन टी आर उसको नशिस्तों की नहीं बल्कि 2014-ए-से क़बल तलंगाना रियासत हासिल करने की फ़िक्र है। इसी
जज़बा के तहत पार्टी सरबराह चन्द्र शेखर राॶ ने अवाम से अपील की कि वो किसी भी क़ुर्बानी केलिए तैय्यार रहीं। हरीश राॶ ने इल्ज़ाम आइद किया कि
आम हड़ताल के दौरान दर्ज किए गए मुक़द्दमात में सिर्फ 20 फ़ीसद से दसतबरदारी इख़तियार की गई है जबकि तलबा-ए-और मुलाज़मीन पर 80 फ़ीसद
मुक़द्दमात अभी भी बरक़रार हैं। उन्हों ने कांग्रेस रुकन पार्लीमैंट ईल राजगोपाल के मुख़ालिफ़ तलंगाना ब्यानात पर तन्क़ीद की और कहा कि तलंगाना
वुज़रा की ख़ामोशी मानी ख़ेज़ है। सीमा ।

आंधरा क़ाइदीन के दबाॶ मैं तलंगाना क़ाइदीन ख़ामोशी इख़तियार किए हुए हैं। तलंगाना एम्पलॉयज़ जे ए सी के सदर
नशीन देवी प्रसाद राॶ ने कहा कि तलंगाना के 4.5 लाख मुलाज़मीन 30 सितंबर तक तलंगाना की अदम तशकील की सूरत में दुबारा हड़ताल केलिए तैय्यार हैं।
मर्कज़ी हुकूमत को मुतनब्बा करने केलिए आज सारे तलंगाना में एहतिजाज मुनज़्ज़म किया जा रहा है। कांग्रेस के साबिक़ रुकन राज्य सभा डाक्टर के
केशव राव ने उमीद ज़ाहिर की कि मर्कज़ी हुकूमत तलंगाना के बारे में जल्द ही मुसबत फ़ैसला करेगी। उन्हों ने कहा कि मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार
शनडे के ब्यान को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया है। उन्हों ने कांग्रेस अरकान असैंबली को मश्वरा दिया कि वो अलैहदा तलंगाना की ताईद में क़रारदाद मंज़ूर
करते हुए मर्कज़ को रवाना करें।

TOPPOPULARRECENT