Monday , December 18 2017

सिद्दिपेट में इस्लामी ख़त्ताती के मुशाहिदे पर इज़हारे मसर्रत

रियासती वज़ीर टी हरीश राव ने कहा कि उन्हें पहली बार इस्लामी फ़न ख़त्ताती की नुमाइश देखने का मौक़ा मिला है उनकी ज़िंदगी का इंतिहाई ख़ुशी मौक़ा है जिस की जितनी तारीफ़ की जाये कम है।

रियासती वज़ीर टी हरीश राव ने कहा कि उन्हें पहली बार इस्लामी फ़न ख़त्ताती की नुमाइश देखने का मौक़ा मिला है उनकी ज़िंदगी का इंतिहाई ख़ुशी मौक़ा है जिस की जितनी तारीफ़ की जाये कम है।

हरीश राव यहां पर ज़ेर सरपरस्ती इदारा सियासत और ज़ेरे एहतेमाम मिल्लत-ए-इस्लामीया वेलफेयर सोसाइटी सिद्दिपेट बमुक़ाम मदीना फंक्शन हाल में इस्लामी फ़न ख़त्ताती की नुमाइश का आख़िरी दिन मुनफ़रद-ओ-बेमिसाल कुरअनी आयात की ख़त्ताती के फ़न पारों का मुशाहिदा करने के बाद मुख़ातिब थे।

उन्होंने ज़ाहिद अली ख़ान की काविशों को सराहते हुए कहा कि ज़ाहिद अली ख़ान ने सिद्दिपेट की अवाम के लिए इस तरह की बेमिसाल नुमाइश का एहतेमाम किया। उन्होंने कहा कि तेलंगाना हुकूमत अक़लियतों ख़सूसन मुस्लिम अक़लियत की तालीमी-ओ-मआशी इस्तिहकाम के लिए अपने वादे को पूरा करेगी। उन्होंने कहा कि तेलंगाना रियासत में उर्दू असातदा की मख़लवा जायदादों को पुर किया जाएगा।

उर्दू को दूसरी सरकारी ज़बान का दर्जा दिया जाएगा। फ़ारूक़ हुसैन एम एलसी ने नुमाइश में अवाम ख़सूसन बुर्क़ापोश ख़वातीन और तालिबात की कसीर तादाद को देख कर ख़ुशी का इज़हार किया कि इस तरह की नुमाइश का मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर एहतेमाम करने का मश्वरह दिया। पहले दिन की बनिस्बत आज अवाम की कसीर तादाद ख़त्ताती नुमाइश के मुशाहिदा के लिए उमड आई। इस मौके पर फ़ारूक़ हुसैन और हरीश राव ने मिल्लत-ए-इस्लामीया सोसाइटी की सताइश की। इस मौके पर अबदुलक़ादिर ,अबदूल्लतीफ़ ,अबदुलसबोर, लाडले साहिब ,ग़ौस ,मुहम्मद यूसुफुद्दीन ,सय्यद मक़सूद ने मुशाहिदा करने वालों की रहनुमाई की।

TOPPOPULARRECENT