Wednesday , January 24 2018

सिनेमा और संगीत ‘अख़लाकी गिरावट’ का कारण हैं: सऊदी मुफ़्ती आज़म

रियाद: सउदी अरब के मुफ्ती अब्दुल अजीज अल शेख ने चेतावनी दी है कि सिनेमा और म्यूजिकल कंसर्ट्स ‘नैतिक पतन’ का विषय हैं और यह मूल्यों के विनाश का कारण बन सकते हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

समाचार एजेंसी एएफपी ने ‘सबक’ समाचार वेबसाइट के हवाले से बताया है कि सऊदी अरब के मुफ्ती आज़म अब्दुल अजीज अल शेख ने सिनेमाघरों और म्यूजिकल कंसर्ट्स को अखलाकी गिरावट बताते हुए सऊदी अरब में उन पर प्रतिबंध का समर्थन किया है। उन्होंने कहा है कि सऊदी अरब में अगर सिनेमाघरों और संगीत कार्यक्रमों की अनुमति दी गई तो यह ‘नैतिक पतन’ का कारण बनेंगे।

सऊदी अरब के मुफ्ती आज़म अब्दुल अजीज अल शेख ने शुक्रवार की रात अपने एक इंटरव्यू में कहा, कि” हम जानते हैं कि सिनेमा घर और संगीत कंसर्ट्स नैतिक पतन का कारण हैं। ” सऊदी अरब के इस्लामी अनुसंधान समिति के प्रमुख मुफ्ती अब्दुल अज़ीज़ का यह टिप्पणी उस सवाल के जवाब में था, जिसमें उनसे पूछा गया कि देश में मनोरंजन के लिये सिनेमाघरों और संगीत कार्यक्रमों की अनुमति देने के सरकारी परियोजनाओं पर उनका क्या रुख है।

मुफ़्ती आज़म ने चेतावनी दी है कि सऊदी अरब में सिनेमाघरों में ऐसी फिल्में भी दिखाई जा सकती हैं, जो उदारवाद, वाहियातपन, अनैतिक और लादीनयत को बढ़ावा दें और इन फिल्मों से सऊदी संस्कृति को बदलने की कोशिश की जा सकती है। उन्होंने कहा कि गाना भी कोई अच्छी बात नहीं है।

TOPPOPULARRECENT