Wednesday , November 22 2017
Home / India / सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान के दौरान नहीं खडें होने पर अब तक 20 लोग गिरफ्तार

सिनेमा हॉल में राष्ट्रगान के दौरान नहीं खडें होने पर अब तक 20 लोग गिरफ्तार

सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रीय गान, यानी ‘जन गण मन’ से सभी सिनेमाघरों में फिल्म शुरू होने से पहले राष्ट्रीय गान  बजाना अनिवार्य करने के बाद इस फैसले के अलग ही नतीजे सामने आ रहे हैं। जनता के रिपोर्टर की खबर के मुताबिक इस मामले में अब तक 20 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा सिनेमा घरों में राष्ट्रगान के दौरान खड़े होने को जरूरी किए हुए दो हफ्ते का वक्त बीत चुका है।

हाल ही में चेन्नई के एक थिएटर में राष्ट्रगान बजने के दौरान शहर के एक थिएटर में कुछ लोग खड़े नहीं हो सके जिस कारण थिऐटर में मारपीट हो गई।

रविवार को ‘चेन्नई 28-II’ फिल्म से पहले चलाए गए राष्ट्रगान के समय कुछ लोग सम्मान में खड़े नहीं हुए। इसमें 20 लोगों के एक ग्रुप ने दो लड़कियों और एक युवक को बुरी तरह पीट दिया। मारपीट इंटरवल के दौरान हुई। चश्मदीदों का कहना है कि राष्ट्रगान के दौरान ऐसे नौ लोग थे जो खड़े नहीं हुए थे।

जनसत्ता की खबर के अनुसार, सोमवार को केरल में हो रहे इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के दौरान 12 लोगों को पकड़ा गया था। पुलिस ने कहा था कि उन लोगों को आयोजकों और पुलिस द्वारा खड़ा होने के लिए कहा गया था लेकिन वे नहीं माने।
क्या कहता है कानून

जन गण नम’ भारत का आधिकारिक राष्ट्रगान है। राष्ट्रगान बजने पर देश के नागरिकों से अपेक्षा की जाती है कि वे सावधान होकर खड़े रहें। प्रिवेंशन ऑफ इंसल्ट्स टू नेशनल ऑनर एक्ट, 1971 के सेक्शन तीन के अनुसार ‘जान-बूझ कर जो कोई भी किसी को राष्ट्रगान गाने से रोकने की कोशिश करेगा या इसे गा रहे किसी समूह को किसी भी तरह से बाधा पहुंचाएगा, उसे तीन साल तक कैद या जुर्माना भरना पड़ सकता है।

हालांकि इस कानून में राष्ट्रगान गाने या बजाने के दौरान बैठे रहने या खड़े होने के बारे में कुछ नहीं कहा गया है। सुप्रीम कोर्ट भी इस मामले पर कह चुका है कि ऐसा कोई कानूनी प्रावधान नहीं है कि किसी को राष्ट्रगान गाने के लिए बाध्य किया जाए।

TOPPOPULARRECENT