Friday , December 15 2017

सिमी पर पांच सालों के लिए पाबंदी

मरकज़ी हुकूमत ने स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) पर एक फरवरी से अगले पांच सालों के लिए पाबंदी मे इज़ाफा कर दिया है साथ ही कहा कि अगर इस पर पाबंदी नहीं लगायी गयी तो यह फिर से तश्कील होगी और मुल्क का सेक्युलरिज़म के ढ़ाचे में रु

मरकज़ी हुकूमत ने स्टूडेंट इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) पर एक फरवरी से अगले पांच सालों के लिए पाबंदी मे इज़ाफा कर दिया है साथ ही कहा कि अगर इस पर पाबंदी नहीं लगायी गयी तो यह फिर से तश्कील होगी और मुल्क का सेक्युलरिज़म के ढ़ाचे में रुकावटें डालेगा |

वज़ारत ए दाखिला ने कहा कि सिमी की सरगर्मियां मुल्क के इत्तेहाद और सेक्युरिटी के लिए खतरनाक हैं इसलिए तंज़ीम पर पाबंदी आंदा पांच सालों तक जारी रहेगी वज़ारत ए दाखिला की नोटीफिकेशन में कहा गया है कि हुकूमत का मानना है कि अगर सिमी की गैरकानूनी सरगर्मियों पर फौरन रोक नहीं लगाई जाती तो वह अपनी तबाहकुन सरगर्मियां शुरू कर देगा |

हुकूमत का मनाना है कि यह फिर्कावाराना हमआहंगी को बिगाड़कर मुल्क के सेक्युलरिज़म के ढ़ाचे में रुकावटे पैदा करेगा मुल्क मुखालिफ ज़ज्बातें भड़काएगा और दहशतगर्द की ताईद कर अलहैदिगी की सरगर्मियों को बढ़ावा देगा |

वज़ारत की तरफ से जारी नई नोटिफिकेशन में 21 दहशगर्द मामलों में सिमी की मुबय्यना तौर पर शमूलियत को उजागर हुई हैं इसमें मुंबई के आजाद मैदान में 2012 में भड़का दंगा भी शामिल है |

वज़ारत ए खारेजा ने कहा कि आजाद मैदान मे मुज़ाहिरा के दौरान गिरफ्तार दस मुल्ज़िमो में से एक इकबाल उर्फ पप्पा गुलाम रसूल शेख सिमी का मेम्बर है | इसने हैदराबाद में दर्ज चार मामले और गुजरात में दर्ज दो मामलों का भी जिक्र किया |

TOPPOPULARRECENT