Tuesday , December 12 2017

सियाचिन से फ़ौजियों को हटाने का पाकिस्तानी तजवीज़ ख़ारिज‌

नई दिल्ली दुनिया की बलंद तरीन जंग के ज़ोन सियाचिन से फ़ौजियों को हटाने के पाकिस्तान की तजवीज़ को हिन्दुस्तानी फ़ौज ने ख़ारिज‌ कर दिया है|

हिन्दुस्तानी फ़ौज ने जुमा को पाकिस्तान को वाज़िह अलफ़ाज़ में कह दिया कि वो जब तक सियाचिन में हिन्दुस्तानी फ़ौज की असल सूरत-ए-हाल को तस्लीम नहीं आएगा, तब तक वहां से फ़ौजियों को हटाने का सवाल ही नहीं उठता|

फ़ौज के शुमाली कमान के सरबराह डीएस हुड्डा ने पाकिस्तान की तजवीज़ को ख़ारिज‌ करते हुए कहा कि सियाचिन में जब तक हिन्दुस्तान के दावे को पाकिस्तान की तरफ‌ से मंज़ूरी नहीं मिल जाती, तब तक वहां से फ़ौजियों को हटाने का सवाल ही नहीं उठता है|

उन्होंने कहा कि सियाचिन से अभी फ़ौज हटाने की कोई वजह नज़र नहीं आती है अपनी सरहदों की हिफ़ाज़त को लेकर हम बिलकुल वाज़िह और बहाल क़रारदाद हैं|

उन्होंने कहा कि इस सूरत-ए-हाल मे बिलकुल वाज़िह है अगर फ़ौज को हटाने के लिए लेकर बातचीत करनी है तो इस से पहले हक़ीक़ी कंट्रोल लाईन (जहां हिन्दुस्तानी जवान तायनात हैं को तस्लीम देनी होगी और ये दोनों फ़रीक़ों को दुरुस्त होना चाहिए अभी तक ये क़दम नहीं उठाया गया है इस लिए फ़ौज को हटाने की कोई वजह नहीं है|

पाकिस्तान ने पिछले दिनों कहा था कि सियाचिन से बाहमी रजामंदी से जवानों को हटा कर उस के और हिन्दुस्तान‌ के दरमयान सियाचिन मसले का फ़ौरी हल निकालने का वक़्त आ गया है, ताकि ये यक़ीनी हो कि ग्लेशियर पर मुतज़ाद हालात की वजह से मज़ीद मालूमात हासिल करें नहीं जाएं|

सियाचिन में हिन्दुस्तामन‌ के 10 जवानों के शहीद होने के वाक़िये पर पाकिस्तान के हाई कमिशनर अब्दुलबासित ने वहां से जवानों को हटाने की पेशकश की थी|

बासित ने पिछले साल अक़वाम-ए-मुत्तहिदा की जनरल असेम्बली में नवाज़ शरीफ़ की तरफ़ से सियाचिन से जवानों को बाहमी रजामंदी से हटाने की तजवीज़ के तनाज़ुर में कहा कि ये हादिसा बातचीत के ज़रीये पुरअमन तरीक़ों से जल्द इस मसले के हल की ज़रूरत पर-ज़ोर देते हैं बासित ने कहा कि इस लिए हमें मज़बूती से लगता है कि इस बात का यक़ीन करने का वक़्त आ गया है कि सियाचिन में मुतज़ाद हालात की वजह से मज़ीद मालूमात हासिल करें नहीं जाएं|

TOPPOPULARRECENT