सिर्फ़ विचारधारा के आधार पर किसी को देशद्रोही नहीं कह सकते- राजनाथ

सिर्फ़ विचारधारा के आधार पर किसी को देशद्रोही नहीं कह सकते- राजनाथ

गृहमंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को  दिल्ली के होटल ताज पैलेस में आयोजित न्यूज 18 ‘राइजिंग इंडिया समिट’ कार्यक्रम में सवालों के जवाब दे रहे थे.

क्या जेएनयू आतंरिक सुरक्षा के लिए खतरा है इस सवाल के जवाब में राजनाथ सिंह का कहना था कि ‘जेएनयू देश के लिए खतरा नहीं है. अगर कोई राजनीतिक पार्टी अपने फायदे के लिए उसका इस्तेमाल कर रही है तो उसकी जांच होनी चाहिए. कॉलेजों में छात्र यूनियन होनी चाहिए, ये लीडरशिप पैदा करती है, मैं भी वहीं से आया हूं; यूनियन से आने वाला खराब नहीं होता है, क्या मैं खराब हूं.’

राममंदिर विवाद मामले पर उनका कहना था कि ‘हम कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. वहीं उनका ये भी कहना था कि आजाद भारत में नेताओं ने जितने भाषण दिए अगर उसका आंशिक रूप से भी काम कर दिया होता तो आज देश की तस्वीर कुछ और ही होती. लेकिन हमारे पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि 2022 में हम नए भारत का निर्माण करेंगे. देश को विकसित देशों की कतार में खड़ा कर देंगे. और एक दिन वो भी आएगा जब हम कहेंगे कि हमारा भारत सुपर पॉवर बन गया है.’

पड़ोसी देश पाकिस्तान के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि ‘वैसे तो पड़ोसी के साथ संबंध अच्छे होने चाहिए. एक दोस्त बदल सकता है पड़ोसी नहीं. लेकिन पता नहीं पाकिस्तान को क्या हो गया है, मानता ही नहीं है. यूएनओ से घोषित आतंकवादी हाफिज सईद को चुनाव लड़ने की इजाजत दे रहा है. उसे पार्लियामेंट में बैठाना चाहता है. हक्कानी नेटवर्क को पाल रहा है.

लेकिन ये तय है कि कश्मीर हमारा था, है और रहेगा. इतना ही नहीं कश्मीर के बच्चे भी हमारे हैं. बच्चों का भविष्य खराब न हो इसलिए सिर्फ एक-दो बार पत्थरबाजी करने वाले कश्मीरी बच्चों पर से हम मुकदमें वापस ले रहे हैं.’स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि ‘2022 आते-आते हम किसानों की आय दोगुनी कर देंगे. ये बात हमारे पीएम नरेन्द्र मोदी भी बोल चुके हैं. इस विषय पर हम काम कर रहे हैं.’

यूपी में नकल विरोधी कानून के बारे में सवाल पर उनका कहना था कि ‘नकल विरोधी कठोर कानून मैंने संघ के पाठ का पालन करते हुए और राजनीतिक फायदे न देखते हुए, देशहित के बारे में सोचते हुए बनाया था. लेकिन चुनावों से पहले ये घोषणा कर सपा सत्ता में आ गई कि हम सरकार बनते ही नकल विरोधी कानून को खत्म कर देंगे.’

Top Stories