Tuesday , December 12 2017

सिविल सजर्न पर जिंसी इस्तेहसाल का इल्ज़ाम

एएनएम हॉस्टल की तालेबाओं ने सेहत महकमा के सिविल सजर्न समेत दो मुलाज़िमीन पर जिंसी इस्तेहसाल और गैर इख़लाक़ी काम करवाने का इल्ज़ाम लगाया है। इस वाकिया के खिलाफ में हॉस्टल की तालेबात ने जुमेरात को दिन भर डीसी के रिहाइशगाह पर मुज़ाहेरा

एएनएम हॉस्टल की तालेबाओं ने सेहत महकमा के सिविल सजर्न समेत दो मुलाज़िमीन पर जिंसी इस्तेहसाल और गैर इख़लाक़ी काम करवाने का इल्ज़ाम लगाया है। इस वाकिया के खिलाफ में हॉस्टल की तालेबात ने जुमेरात को दिन भर डीसी के रिहाइशगाह पर मुज़ाहेरा किया और फिर समाहरणालय अहाते में ही धरने पर बैठ गयी। तालेबात ने सिविल सजर्न डॉ चंद्रप्रकाश विभाकर और अस्पताल मुलाज़िम त्रिपुरारी सिंह की गिरफ्तारी की मुतालिबा की है।

जुमेरात को सुबह तकरीबन 8 बजे एएनएम हॉस्टल की तकरीबन दो दर्जन से भी ज्यादा तालेबात डीसी के रिहाइशगाह पर पहुंची थीं। तालेबात ने कहा कि एक माह पहले ही उनलोगों ने गिरिडीह एएनएम होस्टल में ट्रेनिंग के लिए दाखिला लिया है। उन्हें तरह-तरह से इस्तेहसाल किया जा रहा है। सिविल सजर्न डॉ चंद्रप्रकाश विभाकर और अस्पताल मुलाज़िमीन त्रिपुरारी सिंह पर जिंसी इस्तेहसाल का इल्ज़ाम लगाते हुए तालेबात ने कहा कि सिविल सजर्न बिना काम के भी दफ्तर में बुला लेते थे और फहस हरकत करते हैं।

एक दिन जब तालेबात चादर व शॉल ओढ़कर उनके पास गयी तो उन्हें कहा गया कि यह कश्मीर नहीं है। इसके बाद जबरन शॉल और चादर हटवाया गया। अस्पताल के कई मुलाज़िमीन भी नशे की हालत में बेवजह हॉस्टल में घुस कर गलत हरकत करते है। तालेबात ने डीसी को मेमोरेंडम सौंपने के साथ-साथ गिरिडीह नगर थाना में भी एक दरख्वास्त देकर सनाह दर्ज कर मुजरिमों की बिला ताखीर गिरफ्तारी की मुतालिबात की है।

TOPPOPULARRECENT