सीएम उद्धव ठाकरे ने गवर्नर कोश्‍यारी पर किया हमला, कहा- महाराष्‍ट्र में बीफ बैन और गोवा में छूट… यही है आपका हिंदुत्‍व?

सीएम उद्धव ठाकरे  ने गवर्नर कोश्‍यारी पर किया हमला, कहा- महाराष्‍ट्र में बीफ बैन और गोवा में छूट… यही है आपका हिंदुत्‍व?

मुंबई
राज्‍यपालों और मुख्‍यमंत्रियों के बीच खींचतान की नई कड़ी में महाराष्‍ट्र के सीएम और राज्‍यपाल के बीच वाकयुद्ध जारी है। दशहरा के मौके पर उद्धव ठाकरे ने भगत सिंह कोश्‍यारी और बीजेपी का नाम लिए बिना उनके हिंदुत्‍व पर सवाल उठाए। इसके अलावा नसीहत दी कि राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (आरएसएस) चीफ मोहन भागवत की बातों पर अमल करें। साथ ही चेतावनी भी दी कि हमसे उलझे तो अपने रिस्‍क पर उलझे।

शिवसेना की वार्षिक दशहरा रैली में रविवार को अपने संबोधन में उद्धव ने कहा, ‘हमने मंदिर नहीं खोले तो हमारे हिंदुत्‍व पर सवाल उठाए जाते हैं। आप हमारे हिंदुत्‍व पर बात करते हैं। महाराष्‍ट्र में आपने बीफ पर बैन लगा रखा है लेकिन गोवा में आपको इसकी बिक्री से कोई ऐतराज नहीं है। क्‍या यही आपका हिंदुत्‍व है?’

आरएसएस प्रमुख के हाल के बयानों का उल्‍लेख करते हुए उद्धव ने कहा, ‘मोहन भागवत कहते हैं कि हिंदुत्‍व को पूजा से जोड़कर नहीं देखा जा सकता।’ गवर्नर कोश्‍यारी का नाम लिए बिना उन्‍होंने कहा, ‘काली टोपी पहनने वालों, हमारी आस्‍था पर सवाल उठाने वालों और हमें सेक्‍युलर कहने वालों को भागवत का यह भाषण सुनना चाहिए।’

काली टोपी वाले भागवत को भी सुनें
उद्धव यहीं नहीं रुके, वह बोले, ‘जो लोग उनकी (कोश्‍यारी की) बात पर भरोसा करते हैं और उनका अनुसरण करते हैं वे काली टोपी पहनते हैं। अगर उसके नीचे आपके पास दिमाग है तो कम से कम भागवत का और उनकी कही हुई बातों का अनुसरण करें।’

भागवत ने दशहरा के मौके पर यह कहा था
इससे पहले मोहन भागवत ने दशहरा के मौके पर दिए अपने भाषण में कहा था, ‘हिंदुत्‍व को केवल कर्मकांड से जोड़कर इसके अर्थ को तोड़मरोड़ दिया गया है। संघ इसका इन अर्थों में इस्‍तेमाल नहीं करता है। हमारे लिए हिंदुत्‍व शब्‍द भारत की आध्यात्मिक परंपराओं की निरंतरता मूल्‍यों की संपदा के साथ हमारी पहचान बताने वाला शब्‍द है।’

कोश्‍यारी ने हिंदुत्‍व पर उठाए थे सवाल
इसी महीने महाराष्‍ट्र के राज्‍यपाल भगत सिंह कोश्‍यारी ने सीएम उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखकर राज्‍य में कोरोना की वजह से बंद पड़े धर्मस्‍थलों को खुलवाने का अनुरोध किया था। राज्‍यपाल ने तंज कसते हुए पूछा था कि क्‍या उद्धव को ईश्‍वर की ओर से कोई चेतावनी मिली है कि धर्मस्‍थलों को दोबारा खोले जाने को टालते रहा जाए या फिर वह सेक्‍युलर हो गए हैं। गवर्नर कोश्यारी ने पत्र में लिखा था, ‘विडंबना है कि एक तरफ सरकार ने बार, रेस्टोरेंट ओर समुद्री बीच खोल दिए हैं वहीं दूसरी तरफ देवी-देवता लॉकडाउन में रहने को अभिशप्‍त हैं।’

उद्धव ने किया था पलटवार
इसके जवाब में उद्धव ने पलटवार करते हुए कहा था कि जिस तरह से एकदम से लॉकडाउन लगाना उचित नहीं था उसी तरह से उसे पूरी तरह से समाप्‍त करना भी ठीक नहीं है। हां, मैं हिंदुत्‍व का अनुसरण करता हूं और मेरे हिंदुत्‍व को आपकी पुष्टि की जरूरत नहीं है।’

Top Stories