Saturday , July 21 2018

सीएम ने बैठक नहीं बुलायी तो 10 दिन बाद झारखंड बंद

रांची : वजीरे आला को कारोबारियों की मसला सुननी पड़ेगी। अगर जल्द ही वजीरे आला ने कारोबारियों की मसायलें की हल के लिए बैठक मुनक्कीद नहीं की, तो दस दिनों के बाद पूरे झारखंड में एक दिनी बंद का एलान किया जायेगा। यह बातें फेडरेशन चेंबर सदर पवन शर्मा ने कही। वे चेंबर अॉन ह्वील प्रोग्राम के तहत जमशेदपुर में कारोबारियों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि खदानें बंद पड़ी हैं। इससे बेरोजगारी भी बढ़ रही है। टाटा स्टील से भी उन्होंने मुक़ामी कारोबारियों से सामान खरीदने को कहा। कोमेर्सियल टैक्स महकमा को इनपुट टैक्स के नोटिफिकेशन को भी वापस लेना होगा। इससे पहले सदर पवन शर्मा की कियाद्त में 25 रुकनी दल ने खूंटी, चाईबासा और जमशेदपुर का दौरा किया। इसमें कारोबारियों ने अपनी मसला बतायीं और सुझाव भी दिये। पहली बैठक खूंटी में राजस्थान भवन में खूंटी चेंबर ऑफ कॉमर्स के साथ हुई। इसमें खूंटी की एसडीओ नीरज कुमारी के अलावा इलाक़े के कारोबारी मौजूद थे। बैठक में एसडीओ नीरज कुमारी ने खूंटी में दो-तीन सहूलत सेंटर के जरिये दाल समेत दीगर फूड को सस्ती शरह पर दस्तयाब कराने की दरख्वास्त किया। सदर पवन शर्मा ने कहा कि खूंटी चेंबर की मदद से इलाक़े में तीन सहूलत सेंटर खोले जायेंगे। लेकिन इंतेजामिया यह यकीन दिहानी करे कि इन सहूलत सेंटर पर आनेवाले सामान टैक्स फ्री होंगे। एसडीओ ने चेंबर को हर मुमकिन मदद की बात कही। खूंटी के कारोबारियों ने लाह पैदावार की खराब हालत की जानकारी देते हुुए बड़े और छोटे इंडस्ट्री लगाने में मदद मांगी।

दूसरी बैठक चाईबासा में चाईबासा चेंबर ऑफ कॉमर्स के साथ हुई। इसमें बताया गया कि 1995 से सिंहभूम में लीज रेनूवल का काम नहीं हो रहा है। सरकार की गलत पॉलिसियों की वजह से जिले में लौह अयस्क की 21 खदानें कई सालों से बंद पड़ी हैं।

इसके बाद जमशेदपुर में सिंहभूम चेंबर ऑफ कॉमर्स के साथ बैठक हुई। इसमें मुक़ामी एमपी विद्युतवरण महतो भी शामिल हुए। पवन शर्मा ने कहा कि सरकार के रवैये की वजह से कोल्हान की खदानें बंद पड़ी हैं। उन्होंने यह भी कहा कि टाटा स्टील अगर 10 एग्रीगेटर से ही सामान खरीदेगी, तो दीगर कारोबारी कहां जायेंगे। टाटा स्टील को यह फैसला बदलना होगा, क्योंकि शहर और आसपास के कारोबारी टाटा स्टील पर ही मूनहसर हैं। उन्होंने रियासत में एयरपोर्ट की तादाद बढ़ाने की भी मांग की। एमपी विद्युतवरण महतो ने कहा कि हुकूमत रियासत में कारोबार और इंडस्ट्री की तरक़्क़ी के लिए तेजी से काम कर रही है। तीन खदानें खोली गयी हैं, दो और खदानें जल्द खोली जायेंगी। एनएच 33 का काम तेजी से चल रहा है।
इस दौरे में चेंबर नायब सदर कुणाल अजमानी, शरीक सेक्रेटरी राहुल मारू, आनंद गोयल, खजांची सदर रंजीत गाड़ोदिया, रतन मोदी, किशोर मंत्री, प्रवीण छाबड़ा, आरडी सिंह, अरूण खेमका, रवि भट्ट, अश्विनी राजगड़िया, शैलेश अग्रवाल, किशन अग्रवाल, योगेन्द्र पोद्दार, शंभू गुप्ता, शशांक भारद्वाज, मनोज बजाज, अनिल अग्रवाल, हरि कानोडिया, वरूण तुलस्यान शामिल हुए। इन बैठकों में चाईबासा चेंबर की तरफ से ललित शर्मा, मधुसूदन अग्रवाल, खूंटी चेंबर के मेम्बर, सिंहभूम चेंबर की तरफ से नंद किशोर अग्रवाल, सुरेश सोंथालिया, प्रभाकर अग्रवाल समेत दीगर कारोबारी व इंडस्ट्री के लोग मौजूद थे।

 

TOPPOPULARRECENT