सीएम योगी ने कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद को बताया मसूद अज़हर का दामाद !

सीएम योगी ने कांग्रेस प्रत्याशी इमरान मसूद को बताया मसूद अज़हर का दामाद !

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर से कांग्रेस के प्रत्याशी इमरान मसूद को आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर से जोड़ते हुए कहा कि चुनाव में जनता को तय करना होगा कि वह अजहर की जबान बोलने वाले को चुनेगी या फिर भाजपा उम्मीदवार को चुनेगी। योगी ने सहारनपुर से अपने लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए ‘विजय संकल्प सभा’ में कहा ”पाकिस्तान के अंदर एक आतंकवादी है अजहर मसूद, आपने ओसामा बिन लादेन का नाम सुना ही होगा। जैसे ओसामा, बिन मौत मारा गया था, वैसे ही अजहर मसूद भी मारा जाएगा। आपके सहारनपुर में भी अजहर मसूद का एक दामाद आ गया है, जो उसी की भाषा बोलता है।”

उन्होंने कहा ”इस चुनाव में आपको तय करना है कि अजहर मसूद की भाषा बोलने वाला व्यक्ति चुनाव जीतेगा या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के एक सिपहसलार के रूप में सहारनपुर के समग्र विकास और सुरक्षा के नायक के रूप में राघव लखन पाल आगे बढ़ेंगे।” योगी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी कड़ा तंज करते हुए कहा ”मैन विदआउट ब्रेन कौन है, आप सभी जानते हैं। जितना आप उन्हें रटाएंगे, वह उतना ही बोलेंगे। इसीलिये वह अमेठी जाकर कहते हैं कि वह पेड़ पर आलू उगाएंगे और गन्ने के पेड़ लगा देंगे।”

योगी ने पाकिस्तान को लेकर पिछले दिनों दिये गये सैम पित्रोदा के बयान के बहाने कांग्रेस पर हमला किया। उन्होंने कहा ”कांग्रेस के पीढ़ियों के महागुरू हैं सैम पित्रोदा, जो देश की कीमत पर राजनीति करते हैं। वह देश की सेना के शौर्य और पराक्रम पर सवाल उठाते हैं। आज वह देश के लिए ‘शेम बन चुके हैं, शर्मनाक हो चुके हैं। जब महागुरु का यह हाल है तो उनके महाचेलों के क्या हाल होंगे।”

उन्होंने कहा कि भाजपा ने देश की कीमत पर नहीं बल्कि केवल देश के लिये राजनीति की है। कांग्रेस और सपा-बसपा देश की कीमत पर राजनीति कर रहे हैं।मुख्यमंत्री ने विपक्षी दलों पर देशद्रोहियों को प्रश्रय देने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे तत्वों को पनाह देने वाला गिरोह देश की तरक्की नहीं होने देना चाहता।योगी ने किसी का नाम लिये बगैर कहा कि वर्ष 2014 में प्रदेश के ‘भ्रष्टाचारियों की कुलदेवी’ और प्रदेश के गुंडों के ‘कुल भूषण’ देश और प्रदेश का सर्वनाश करने पर उतारू हो चुके थे, मगर भाजपा नेतृत्व ने नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित करके पूरे देश के अंदर आशा का एक नया संचार किया था।

उन्होंने दावा किया कि मोदी पर उनका विरोधी भी कोई आरोप नहीं लगा सकता। एक निष्कलंक छवि के साथ उन्होंने पूरा जीवन देश को समर्पित कर दिया। योगी ने कहा कि वर्ष 2014 में मोदी का नाम हमारे साथ था, अब हमारे साथ उनका काम भी है। आज देश में बस मोदी-मोदी की ही धूम है। कांग्रेस, और सपा-बसपा के 55 वर्ष के कार्यकाल पर मोदी सरकार के 55 महीने का काम भारी है।

Top Stories