Saturday , December 16 2017

सीनियर लीडर्स की लड़ाई से सोनिया परेशान कहा अब चुप रहो

दिल्ली विधानसभा इंतेखाबात में कांग्रेस का सफाया होने को लेकर साबिक वज़ीर ए आला शीला दीक्षित की तरफ से इलेक्शन में पार्टी का चेहरा रहे अजय माकन और दिल्ली मामलों के पार्टी इंचार्ज पी. सी.

दिल्ली विधानसभा इंतेखाबात में कांग्रेस का सफाया होने को लेकर साबिक वज़ीर ए आला शीला दीक्षित की तरफ से इलेक्शन में पार्टी का चेहरा रहे अजय माकन और दिल्ली मामलों के पार्टी इंचार्ज पी. सी. चाको को सीधा-सीधा निशाना बनाया। इससे आवामी तौर पर पार्टी की फजीहत होती देख सदर सोनिया गांधी ने मामले में दखल दी है। उन्होंने पार्टी के सिनीयर लीडरों में जारी जुबानी जंग को बदकिस्मती करार देते हुए इसे यहीं बंद करने की नसीहत दी।

सोनिया से मुलाकात के बाद पी. सी. चाको ने नामानिगारों को बताया कि, ‘कांग्रेस सदर ने कहा कि यह बेहद बदकिस्मती है। उन्होंने कहा कि सिनीयर लीडरों को तहम्मुल बरतना चाहिए। उन्होंने मुझसे सभी सिनीयर लीडरों तक यह बात पहुंचाने को कहा कि हम अपने साथियों के खिलाफ ऐसी बयानबाजी नहीं करें।’

पहले ही अपना-अपना इस्तीफा सौंप चुके चाको और दिल्ली कांग्रेस सदर अरविंदर सिंह लवली ने इंतेखाबी नतीजों के बारे में बात करने के लिए कल देर शाम पार्टी सदर सोनिया गांधी से मुलाकात की। इससे पहले बुध की शाम अजय मकान, पी. सी. चाको और अरविंदर लवली ने पार्टी के नायब सदरराहुल गांधी से मुलाकात की थी। तीनों तब तक अपनी-अपनी जिम्मेदारियों से हटे हुए हैं जब तक पार्टी कियादत इनके इस्तीफे पर गौर नहीं कर लेती।

बहरहाल, अब सोनिया के पैगाम से साफ हो गया है कि पार्टी में एक-दूसरे पर इस तरह का हमला आगे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। गौरतलब है कि शीला दीक्षित ने कहा था कि उन्हें अजय माकन पर तरस आ रहा है।

TOPPOPULARRECENT