Tuesday , May 22 2018

सीबीआइ का दावा, ‘रिश्वत’ का बंसल से रिश्ता

नई दिल्ली, 7 मई: रेलवे घूस मामले की जांच कर रही सीबीआइ इस बात से पूरी तरह मुतमईन है कि रेल मंत्री पवन बंसल के भांजे विजय सिंगला से बरामद 90 लाख रुपये किसी न किसी तौर पर वज़ीर से ताल्लुक रखते थे। कई सीनीयर आफीसरों ने कहा है कि जांच करने वा

नई दिल्ली, 7 मई: रेलवे घूस मामले की जांच कर रही सीबीआइ इस बात से पूरी तरह मुतमईन है कि रेल मंत्री पवन बंसल के भांजे विजय सिंगला से बरामद 90 लाख रुपये किसी न किसी तौर पर वज़ीर से ताल्लुक रखते थे। कई सीनीयर आफीसरों ने कहा है कि जांच करने वाले बंसल और उनके ज़ाती स्टाफ से पूछताछ कर सकते हैं।

सीबीआइ ज़राए ने कहा कि इस बात के पुख्ता सुबूत मिले हैं कि सिंगला से बरामद रिश्वत की रकम वज़ीर से मुताल्लिक थे। साथ ही ज़राए ने कहा कि बंसल के दोनों बेटों से भी पूछताछ की जा सकती है, जो थिऑन फार्मासूटिकल कंपनी चलाते हैं। इसमें विजय सिंगला भी पार्टनर है। गौरतलब है कि पहले रेल मंत्री ने अपने भांजे सिंगला से किसी भी तरह के कारोबारी रिश्ते से इन्कार किया है। अब तक इस मामले में नौ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

ज़राए ने इसके साथ ही यह भी कहा है रकम के ज़रिए का पता चल गया है। रिश्वत की रकम रेलवे प्रोजेक्ट से जुड़ी एक कंपनी के ज़रिए आई थी। तफतीशकारों ने इस मामले से जुड़े लोगों के कॉल डिटेल ख‍ंगाल रहे हैं। इस डिटेल से केस की कड़ी को जोड़ने में काफी मदद मिलने की उम्मीद है।

इब्तेदा की जांच में यह बात सामने आई है कि महेश कुमार को 01 मई को रेलवे बोर्ड में स्टाफ मेम्बर के तौर पर मुकर्रर किया गया था लेकिन उनकी नजर इलेक्ट्रीकल मेम्बर की कुर्सी पर थी। रेलवे इलेक्ट्रीकल सामान बनाने वाली कंपनी के पिरामिड इलेक्ट्रॉनिक्स के चेयरमैन संदीप गोयल ने कुमार को यकीन दिया था कि वह जब तक इलेक्ट्रीकल मेम्बर के तौर पर उनकी बोर्ड में तकर्रुरी नहीं हो जाती वह मगरिबी रेलवे व सिंग्नल टेलीकम्युनिकेशन के जनरल मैनेजर का इजाफी चार्ज (Additional charges) संभालते रहेंगे।

TOPPOPULARRECENT