Monday , December 11 2017

सीमांध्र में कांग्रेस पार्टी की हालत अबतर

आंध्र प्रदेश की तक़सीम और तेलंगाना रियासत के क़ियाम के बाद कांग्रेस पार्टी सीमांध्र में अपनी तारीख़ के बदतरीन दूर से गुज़र रही है। साबिक़ वुज़रा , अरकाने पार्लियामेंट -ओ-असेंबली और सीनीयर क़ाइदीन रोज़ाना पार्टी छोड़कर वाई एस आर कांग

आंध्र प्रदेश की तक़सीम और तेलंगाना रियासत के क़ियाम के बाद कांग्रेस पार्टी सीमांध्र में अपनी तारीख़ के बदतरीन दूर से गुज़र रही है। साबिक़ वुज़रा , अरकाने पार्लियामेंट -ओ-असेंबली और सीनीयर क़ाइदीन रोज़ाना पार्टी छोड़कर वाई एस आर कांग्रेस या तेलुगु देशम का रुख़ कर रहे हैं।

अब जबकि मजालिस मुक़ामी कीचनुाव मुहिम उरूज पर है, कांग्रेस पार्टी अपने बेहतर मुज़ाहरा के लिए एड़ी चोटी का ज़ोर लगा रही है क्युंकि मजालिस मुक़ामी के नताइज का असर यक़ीनी तौर पर असेंबली और लोक सभा के नताइज पर पड़ेगा।

सदर आंध्र प्रदेश प्रदेश कांग्रेस कमेटी एम रग्घू वीरा रेड्डी ने सीमांध्र के दुसरे क़ाइदीन के साथ मजालिस मुक़ामी चुनाव की मुहिम की तारीखें तए करदें। दिलचस्प बात तो ये है कि रियासत की तक़सीम के बाद सीमांध्र में कांग्रेस पार्टी को उम्मीदवारों की क़िल्लत का सामना है।

TOPPOPULARRECENT