Saturday , July 21 2018

‘सीमा गनी’ को महिलाओं की सेवाओं के लिए ब्रिटिश पुरस्कार

काबुल: अफगान कार्यकर्ता सीमा गनी को महिलाओं के लिए उनकी सेवाओं के बदले में एक महत्वपूर्ण ब्रिटिश पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। गनी की ओर से अफगान महिलाओं की क्षमता बढ़ाने और रोजगार के अवसर पैदा करने के प्रयासों को विश्व स्तर पर सराहा जाता है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

सीमा गनी न केवल सिविल सर्वेंट के रूप में काम कर चुकी हैं बल्कि प्रबंधन सलाहकार और कवि भी हैं। महिलाओं के अधिकारों के लिए सक्रिय सीमा गनी का सपना है कि अपने मूल देश अफगानिस्तान में महिलायें देश के विकास की खातिर पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाकर सक्रिय हों। इस उद्देश्य की खातिर उन्होंने विभिन्न परियोजनायें भी शुरू किए। उनकी इन्हीं प्रयासों के कारण इस अशांत देश में महिलाओं की क्षमता में वृद्धि हुई बल्कि उन्हें रोजगार के अवसर भी उपलब्ध आए।

डीडब्ल्यू के मुताबिक़ अफगान महिलाओं की खातिर की गई इन्हीं प्रयासों की मान्यता में प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता सीमा गनी को हाल ही में लंदन में आयोजित एक शानदार और प्रतिष्ठित समारोह में Bond Outstanding Individual Award से सम्मानित किया गया।

एक सैन्य अधिकारी की बेटी सीमा नब्बे के दशक में अफगानिस्तान में जारी गृहयुद्ध के कारण प्रवास अपनाते हुए ब्रिटेन चली गई थीं। लंदन में रहने के दौरान उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद सलाहकार के रूप में काम करना शुरू कर दिया था।

हालांकि जब नाइन इलेवन के हमलों के बाद अमेरिकी सैन्य गठबंधन ने अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार का तख्ता पलट दिया तो सन् 2002 में सीमा वापस अफगानिस्तान चली गईं। वह अपने देश के पुनर्निर्माण और पुनर्वास में योगदान करने की इच्छुक थीं।

पुरस्कार प्राप्त करने के बाद लंदन में थॉमसन रोइटरज़ फाउंडेशन से बातचीत में गनी ने कहा कि ‘देशभक्ति की भावना के तहत अफगानिस्तान को कुछ वापस करना चाहते हैं। अफगान गृह युद्ध में अनाथ हुए बच्चों की मदद करते हुए उन्होंने सोलह बच्चों को गोद लिया है। इन बच्चों की उम्र तीन और सत्रह साल के बीच हैं।

TOPPOPULARRECENT