Sunday , January 21 2018

सीरत कॉन्फ्रेंस में तकरीर और मुशायरा

पटना सिटी 8 जून : अंजुमन-ए-रजा मुस्तफा की जानिब से शब-ए-मेराज पर सीरत कॉन्फ्रेंस का इन्काद नून के चौराहा में किया गया। इसमें तकरीर करते हुए हजरत मौलाना सैयद इकबाल हसन हसनी ने कहा कि अल्लाह ने अपने बंदों को बेइंतिहा नेयामातों से नवाज

पटना सिटी 8 जून : अंजुमन-ए-रजा मुस्तफा की जानिब से शब-ए-मेराज पर सीरत कॉन्फ्रेंस का इन्काद नून के चौराहा में किया गया। इसमें तकरीर करते हुए हजरत मौलाना सैयद इकबाल हसन हसनी ने कहा कि अल्लाह ने अपने बंदों को बेइंतिहा नेयामातों से नवाजा है। पैंगबर हजरत मोहम्मद (स.अ.व.) ने भी अपनी जिंदगी फलसफा में अल्लाह के ताईन अपनी वाबस्तगी कायम रख इबादत करना और इंसानी इक्दार को तरक्की करने का पैगाम दिए।

मौके पर मुनाक्किद आल इंडिया नात-ए-मुशयारा का इफ्तेताह हाफिज कमरुउद्दीन ने की। सदारत मिजाज आगना ने की। ओपरेशन ताहिर नक्कास ने किये। मुशायरा में अनवर जमीली, शंकर कैमूइ, अतीक फताहपुरी, बली शमशी, कलीम दानिश, अंजार सीतापुरी, शगुफ्ता दानिश वगैरह शायरों ने अपनी पेशकश दी।

TOPPOPULARRECENT