Saturday , January 20 2018

सीरियाई जनता की लाशों पर .. दारिया में ‘बशर अल असद’ की “ईद की नमाज”

दमिश्क़: सीरियाई सरकार प्रशासित सरकारी मीडिया के अनुसार राष्ट्रपति बशर अल असद ने “इद उल अज़हा” की नमाज़ राजधानी दमिश्क के निकट स्थित शहर दारिया की एक मस्जिद में अदा की।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

दारिया शहर शेष निवासियों और सेनानियों के निकलने के बाद आबादी से खाली हो गया था। यह निकासी शहर में विपक्षी समूहों और सीरियाई सरकार की सेना के बीच डिफ़ॉल्ट समझौते के बाद हुई। समझौते के तहत शहर से पांच हजार लोगों को निकलना था जहां युद्ध से पहले लगभग ढाई लाख लोग निवास थे।
समझौते में एक हजार सेनानियों के अपने छोटे हथियारों सहित देश के उत्तर की ओर वापसी भी शामिल था जहां विपक्ष का नियंत्रण है। दारिया के निवासियों और सेनानियों के निकलने का दूसरा चरण समाप्त होने के बाद बशर अल असद की सेना जिन्हें मलीशियाउं की सहायता प्राप्त थी शहर में प्रवेश कर गया।
उधर बशर सरकार के हमनवा मीडिया ने खुद बताया है कि सरकारी सेना के अधिकारियों और सशस्त्र मलीशियाउं ने दारिया में चोरी और लूटपाट की कार्रवाइयां की हैं। सरकार नवाज़ एक न्यूज नेटवर्क का कहना है कि सरकारी सेना की वर्दी में चोरी और लूटपाट करने वाले वास्तव में सैन्य अधिकारी नहीं बल्कि बंदूकधारी हैं।
सरकारी सेना ने 2012 से दारीया में विपक्षी बलों और नागरिकों को घेर रखा था। इस दौरान खाद्य आपूर्ति पहुंचने से रोक दिया गया था और क्षेत्र को लगातार बमबारी का निशाना बनाया गया जो बशर अल असद के अध्यक्ष स्थान दमिश्क से केवल सात किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

TOPPOPULARRECENT