Wednesday , November 22 2017
Home / International / सीरिया अमन बात-चीत: अपोज़ीशन की जिनेवा से रवानगी

सीरिया अमन बात-चीत: अपोज़ीशन की जिनेवा से रवानगी

सीरिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के ख़ुसूसी एलची ने जुमेरात के रोज़ बताया है कि महसूर शामियों के लिए इन्सानी बुनियादों पर इमदादी सामान पहुँचाने के सिलसिले में “थोड़ी” पेशरफ़्त हुई है और सीरियन हुकूमत अभी तक बाअज़ इलाक़ों में स्वास्थ्य संबंधी सामान दाख़िल होने से रोक रही है जो कि “नाक़ाबिल-ए-क़बूल”हरकत है।

स्टीफ़न डी मिस्तुरा ने ह्यूमन वर्क फ़ोर्स के हफ़्तावार इजलास के बाद सहाफ़ीयों से गुफ़्तगु करते हुए बताया कि वो आइन्दा दिनों में एक सीनीयर अहलकार का तक़र्रुर करेंगे ताकि लाखों ज़ेर-ए-हिरासत लोगों का मसला सँभाला जा सके।

दूसरी जानिब सीरियन अपोज़ीशन का वफ्द जिनेवा से वापिस रवाना हो गया है। अपोज़ीशन की वार्ताकार कमेटी के सीनीयर वार्ताकार कार मुहम्मद उलूश ने जिनेवा से रवानगी से क़ब्ल बताया कि हुकूमत को चाहिए कि वो मुज़ाकरात के दोबारा आग़ाज़ से पहले “क़तल-ओ-ग़ारतगरी” को रोके।

उलूश ने जो अपोज़ीशन की जमात जैशुल इस्लाम की नुमाइंदगी कर रहे हैं जुमेरात के रोज़ कहा कि जब तक हुकूमत “क़तल-ओ-ग़ारतगरी” को ना रोक दे और हज़ारों क़ैदीयों को रिहा ना कर दे उस वक़्त तक जिनेवा में अमन बात-चीत दोबारा शुरू नहीं हो सकती।

TOPPOPULARRECENT